लग्जरी घरों में रहने वाला ये गैंगस्टर झोपड़ी में रहने को मजबूर, अब भी हाईटेक सुविधाएं

नई दिल्ली(17 सितंबर):  एक साल से जिस कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल को पुलिस ढूंढ़ नहीं पाई है। वह पिछले 6 महीने से राजस्थान के जोधपुर एरिया में घूम रहा है। अगस्त में ही वह चार बार जोधपुर के बाप उपखंड क्षेत्र में शरण लेता रहा। जब पुलिस और एसओजी टीम उसे पकड़ने गई तो एक दिन पहले ही वह दो सितंबर की रात मौके से फरार हो गया। 

- जोधपुर जिले के हिंडाल-गोल स्थित जिस फॉर्म हाऊस पर गैंगस्टर रुका हुआ था यह फॉर्म हाऊस काफी दूर तक फैला था।

- यहां आनंदपाल सिंह खुले झोपड़े के नीचे खाठ लगाकर सोता था और उसके खाने के लिए फार्म हाऊस मालिक उसके मन मुताबिक खाना बनाकर खिलाता था।

- हिरासत में लिया गया युसुफ गिरफ्तार किए गए कासम का साला है। उसने अपना रुतबा बढ़ाने और दबदबे के लिए जीजा को कह कर आनंदपाल को अपने फार्म हाउस पर बुलाया था।

- आनंदपाल 6 माह में 7-8 बार यहां रुक कर गया था और शरणदाताओं से गोला बारूद लेकर गया। उसके हिण्डालगोल में आपराधिक प्रवृति के लोगों से कॉन्टैक्ट रहा है।

पुलिस के आने से पहले फरार हो गया आनंदपाल

- एसओजी की टीम तीन सितंबर को आनंदपाल को पकड़ने के लिए जोधपुर पहुंची, लेकिन तब तक वह फरार हो चुका था।

- पुलिस ने आनंदपाल को शरण देने वाले एक आदमी को दो बंदूकों व भारी मात्रा में विस्फोटक सहित गिरफ्तार किया है और तीन लोगों को हिरासत में लिया है।

- आनंदपाल के एक साथी मोंटी ने पूछताछ में बताया कि आनंदपाल जोधपुर के बाप और फलौदी में 6 माह से छुप रहा है।

आनंदपाल के झोपड़े में हाईटेक सुविधाएं

- पुलिस से बचने के लिए आनंदपाल आजकल झोपड़ें में रह रहा है। हाल ही में वह चुरू से करीब छह किलामीटर दूर एक झोपड़े में रूका था।

- पुलिस दबिश के बाद पता चला था कि एक फार्म हाउस में बने झोपड़े में आनंदपाल के लिए कई तरह की हाईटेक सुविधाएं थीं।

- झोपड़ा में बेड, टीवी, फ्रीज और कूलर आदि उपलब्ध थे। वहीं पास में एक झोपड़े में रसोईघर बना हुआ है, जिसमें खाने-पीने की सभी व्यवस्था थी।

आनंदपाल के फार्म हाउस में बने थे खुफिया रास्ते

- पुलिस अफसर पर फायरिंग कर फरार होने के बाद से पुलिस आनंदपाल को पकड़ने के लिए एक्टिव है और एक टीम ने पिछले महीने आनंदपाल के फार्म हाउस पर छापा मारा था।

- टीम ये देख हैरान थी कि इस आनंदपाल के फार्म हाउस को कैदियों को बंद करने और गोलीबारी करने के लिए तैयार किया गया था।

- करीब 9 बीघा 14 बिस्वा में फैले फार्म हाउस से ही आनंदपाल ने कई अपराधों को अंजाम देता था। फार्म हाउस आनंदपाल के खास रहे धर्मेंद्र हरिजन की पत्नी सीता देवी के नाम है।