आनंदपाल की श्रद्धांजलि रैली में हिंसा 5 पुलिसकर्मी सहित दो दर्जन घायल

नई दिल्ली (13 जुलाई): पुलिस मुठभेड़ में मारे गए गैंगस्टर आनंदपाल सिंह के गृह जिले नागौर के सावरांद गांव में उसको श्रद्धांजलि देने के लिए  हुंकार रैली हिंसक हो गई।

पुलिस और आंदोलनकारियों के बीच झड़प में करीब 20 लोग जख्मी हुए हैं। इस घटना में एक पुलिसकर्मी लापता है। इनमें से पांच घायलों को सवाई मान सिंह अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने रबर की गोलियां चलाईं। हिंसक घटना में एक शख्स की मौत और पुलिस अफसर मोनिका सेन के अंगरक्षक के जख्मी होने की खबर है। हालांकि, इसकी अभी पुष्टि नहीं हुई है।


आंदोलनकारियों ने सबसे पहले रेलवे ट्रैक पर कब्जा किया, फिश प्लेटें उखाड़ी और फिर पुलिस पर पथराव किया। इस मामले में घायल तीन पुलिसकर्मियों को इलाज के लिए जयपुर लाया गया है।


* रैली में एक लाख लोग शामिल हुए


* आनंदपाल को श्रद्धाजंलि देने के लिए उसके गांव सावरांद में बुधवार को हुंकार रैली का आयोजन किया गया, जिसमें करीब एक लाख लोग शामिल हुए।


* रैली के पीछे मकसद आनंदपाल  एनकाउंटर की सीबीआई जांच कराने के लिए दबाव बनाना था।


* इसके बाद सरकार और आंदोलनकारियो के बीच सीबीआई जांच को लेकर सहमति बन गई, जिसके बाद परिवार 16 जुलाई को आनंदपाल के अंतिम संस्कार के लिए राजी हो गया।


* अब हिंसा हो जाने से इस समझौते की आधिकारिक घोषणा अधर में लटक गई।