आनंदपाल एनकाउंटर: हिंसक झड़प के दौरान लोगों ने पुलिस की AK47 और वायरलेस सेट लूटे

नई दिल्ली (13 जुलाई): कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल सिंह के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने की घटना की सीबीआई जांच की मांग करते हुए नागौर जिले में भारी तादाद में जमा हुए लोगों की बुधवार को पुलिस से झड़प हो गई। प्रदर्शनकारियों ने एसपी पारस देशमुख की गाड़ी में आग लगा दी। चार बसों में आग लगा दी गई। आनंदपाल के समर्थकों ने पुलिस की 2 AK47, वायरलेस सेट और कई पिस्तौल लूटकर ले गए। संवाराद में जब पुलिस और समर्थकों के बीच झड़प चल रही थी तब ये चीजे लूटकर ले गए।  


डिडवाना के पास लोगों ने रेलवे ट्रैक से फिशप्लेट उखाड़ने की भी कोशिश की। सरकार के मुताबिक उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए केवल रबर की गोलियों, आंसू गैस और लाठीचार्ज किया गया। इस पूरे घटनाक्रम में मूल रूप से हरियाणा के रहने वाले एक शख्‍स की मौत हो गई (अभी मृत्‍यु के कारणों के बारे में पता नहीं चल सका है). 21 पुलिसकर्मी जख्‍मी हुए हैं और सात नागरिक घायल हुए हैं। भारी तनाव को देखते हुए वहां कर्फ्यू लगा दिया गया है और इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी गई है।


गौरतलब है कि आनंदपाल करीब डेढ़ साल पहले एक अदालत में पेशी के बाद अजमेर केंद्रीय कारागृह लौटते समय सुरक्षाकर्मियों की कथित मिलीभगत से फरार हो गया था। राजस्थान पुलिस की विशेष अभियान समूह ने गत 24 जून को एक मुठभेड़ में आनंदपाल को मार गिराया था।