अमूल ने अपने 6.7 लाख सदस्य किसानों के बैंक खाते खोले

नई दिल्ली ( 28 दिसंबर ): कैड़ा जिला सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ (केडीसीएपीयू) ने कहा कि उसने अपने सभी 6.7 लाख सदस्य किसानों के बैंक खाते खोले हैं। यह जीसीएमएमएफ की सदस्य यूनियन है, जो अमूल ब्रांड के तहत अपने उत्पाद बेचती है।

गुजरात सहकारी दुग्ध विपणन महासंघ (जीसीएमएमएफ) की सदस्य यूनियन केडीसीएमपीयू ने आज दावा किया कि 8 नवंबर से 20 दिसंबर के बीच ढाई लाख और किसानों को बैंकिंग प्रणाली के दायरे में लाया गया।

केडीसीएमपीयू के चेयरमैन रामसिंह परमार ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमारे 6.7 लाख सदस्यों में से 4.2 लाख सदस्यों के राष्ट्रीयकृत बैंकों में खाते हैं। हम शेष ढाई लाख सदस्यों के भी बैंक खाते खोले हैं।’