अलीगढ़ यूनिवर्सिटी हिंसा मामले में टीचर्स एसोसिएशन ने की CBI जांच की मांग

नई दिल्ली (25 अप्रैल): अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के टीचर्स एसोसिएशन ने शनिवार रात को कैम्पस में हुई हिंसा के लिए सीबीआई की जांच की मांग की है। दो विरोधी गुटों के बीच हुई हिंसा में दो युवकों की मौत हो गई थी।

अंग्रेजी अखबार 'द ट्रिब्यून' की रिपोर्ट के मुताबिक, टीचर्स एसोसिएशन की एक्जीक्यूटिव कमिटी ने एक आपातकालीन बैठक बुलाई। जिसमें एक प्रस्ताव पास किया गया जिसमें कहा गया है कि कई हॉस्टलों में अवैध तरीके से लोगों ने अपना कब्जा कर रखा है। जिन्हें छुटकारा इसलिए मिला हुआ है क्योंकि "उन्हें यूनिवर्सिटी प्रशासन के कुछ लोगों की तरफ से आश्रय मिल रहा है।"

प्रस्ताव में कहा गया है कि इस षडयंत्र में सीबीआई जांच से ही साफ होगा कि असल में इस घटना में कौन लोग शामिल थे। जिस वजह से इतनी बड़ी हिंसक घटना हुई। प्रस्ताव में यह भी कहा गया है कि कैम्पस में इस तरह का संकट शक्ति को लेकर संघर्ष के चलते हुई है। जो यूनिवर्सिटी प्रशासन के भीतर चल रहा है। जिसके पीछे "फायदे लेने और पहुंचाने का मकसद है।"

गौरतलब है, एएमयू में विरोधी गुटों के बीच हुई मुठभेड़ में दो लोगों की जान चली गई। जिसमें एक बर्खास्त छात्र के अलावा एक दूसरा छात्र शामिल है। दो कैम्पस में एक एडमिशन टेस्ट के लिए मौजूद था। घटना के बाद अधिकारियों को रैपिड एक्शन फोर्स को तैनात करना पड़ा। इसके अलावा एएमयू हॉस्टल्स को तुरंत ही खाली कराने के लिए ऑपरेशन चलाना पड़ा।