अमृतसर में आज से 'हार्ट ऑफ एशिया' सम्मेलन का आगाज

अमृतसर (4 दिसंबर): अमृतसर में आज से दो दिवसीय 'हार्ट ऑफ एशिया' सम्मेलन की शुरुआत होने जा रही है। इस सम्मेलन में सम्मेलन में पाकिस्तान, चीन, ईरान, रूस और अफगानिस्तान सहित करीब 40 देशों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। 

यह सम्मेलन अफगानिस्तान पर इस्तांबुल प्रक्रिया का हिस्सा है। सम्मेलन का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी करेंगे। अफगानिस्तान 'हार्ट ऑफ एशिया' का स्थायी अध्यक्ष है जबकि भारत इस साल सह-अध्यक्ष होने के नाते सम्मेलन का मेजबान है। मंत्री स्तरीय सम्मेलन की सह अध्यक्षता जेटली और अफगान विदेश मंत्री करेंगे। 

वित्तमंत्री अरुण जेटली इस सम्मेलन में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज बीमार होने के कारण इसमें भाग नहीं ले रही हैं। इस सम्मेलन में आतंकवाद के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान को घेरने का भारत के पास बेहतरीन मौका होगा और इसमें अफगानिस्तान का साथ मिलने की पूरी उम्मीद है।

'हार्ट ऑफ एशिया' यानी इस्तांबुल प्रक्रिया के वार्षिक सम्मेलन में करीब 40 देशों समेत यूरोपीय संघ जैसे प्रमुख समूह संकट से घिरे अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया बहाली समेत देश से जुड़ी कई समस्याओं पर चर्चा कर रहे हैं।