72 घंटे में दबोचा गया अमृतसर ब्लास्ट का आरोपी, सीएम बोले- हमले के पीछे पाक और ISI

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 नवंबर): पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने अमृतसर स्थित निरंकारी मिशन में पिछले दिनों हुए ब्लास्ट में पाकिस्तान की ISI का हाथ होने की पुष्टि की है। बुधवार को उन्होंने बताया कि ब्लास्ट के 72 घंटों के भीतर पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस हमले में दो लोग शामिल थे। इनमें से एक 26 साल के बिक्रमजीत सिंह को पकड़ा गया है। उन्होंने कहा कि दूसरे आरोपी की भी पहचान कर ली गई है, उसका नाम अवतार सिंह है। जल्द ही वह पुलिस की गिरफ्त में होगा। पुलिस ने हमले में इस्तेमाल बाइक को भी बरामद कर लिया है। आपको बता दें कि इस हमले में तीन लोगों की जान चली गई थी और 20 लोग जख्मी हो गए थे।

सीएम ने साफ कहा कि इसमें कोई भी सांप्रदायिक ऐंगल नहीं है, यह पूरी तरह से आतंकवाद का मामला है। निरंकारी मिशन को निशाना बनाया गया क्योंकि वहां मौजूद लोग आतंकियों का आसान टारगेट थे। उन्होंने बताया कि हमारे पास पहले से ही सूचना थी कि दूसरे संगठनों को निशाना बनाया जा सकता है और ऐसे में हमने ऐहतियाती कदम उठाए और हमले रोकने में कामयाब रहे।  

अमरिंदर ने बताया कि IED और काफी मात्रा में हथियार बरामद किए गए हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और आईएसआई काफी ऐक्टिव है। हमले में मास्टरमाइंड आईएसआई है और उसने कुछ लोगों का इस्तेमाल कर इसे अंजाम दिया। सीएम ने बताया कि इन लोगों ने पाकिस्तान की हथियार फैक्ट्री में बने ग्रेनेड का इस्तेमाल किया। इसका लाइसेंस पाकिस्तान ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के पास है। सीएम ने बताया कि हमले में जिस ग्रेनेड का इस्तेमाल हुआ, उसी तरह का कश्मीर में सुरक्षाबलों के खिलाफ किया जाता है। इस ग्रेनेड में पैलेट्स भरे हुए थे।

पंजाब के सीएम ने पाक कनेक्शन के प्रूफ भी दिखाए। उन्होंने लोगों को आश्वस्त किया कि पंजाब में शांति कायम रखी जाएगी। उन्होंने कई तस्वीरें दिखाते हुए कहा कि पाकिस्तान शांति के माहौल को बिगाड़ने के लिए आतंकी संगठन खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का इस्तेमाल कर रहा है। उन्होंने साफ कहा कि कश्मीर के बाद अब पाकिस्तान पंजाब, राजस्थान और गुजरात जैसे सीमावर्ती राज्यों को अशांत करना चाहता है।अमरिंदर ने कहा, 'हमने 17 मॉड्यूल्स का भंडाफोड़ किया है। कुल 81 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 77 हथियार जब्त किए गए हैं और IEDs, ग्रेनेड आदि बरामद किए गए है... हमारी फोर्सेज आतंकियों से एक कदम आगे है।'