पनामा पेपरलीक्स पर अमिताभ ने दी सफाई, दिया यह बयान...

नई दिल्ली (5 अप्रैल): पनामा की लॉ फर्म मोसेक फोंसेका के दस्तावेज लीक होने के बाद गैर-कानूनी ढंग से विदेश में दौलत छुपाने के आरोपों पर महानायक अमिताभ बच्चन ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि जिन कंपनियों को उनकी बताया जा रहा है, उनका उन्होंने नाम तक नहीं सुना और हो सकता है कि किसी ने उनके नाम का दुरुपयोग किया हो।

अमिताभ बच्चन ने मीडिया को जारी अपने बयान में कहा है कि इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में जिन कंपनियों का जिक्र किया गया है, उनके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। सी बल्क शिपिंग कंपनी लिमिटेड, लेडी शिपिंग लिमिटेड, ट्रेजर शिपिंग लिमिटेड और ट्रंफ शिपिंग लिमिटेड से उनका कोई नाता नहीं है। इनमें से किसी कंपनी के वे कभी निदेशक नहीं रहे हैं और हो सकता है कि किसी ने उनके नाम का दुरुपयोग किया हो।

अमिताभ ने कहा कि उन्होंने अपने सभी टैक्स चुकाए हुए हैं। विदेशों में किए गए अपने खर्च पर भी उन्होंने पूरा टैक्स दिया है। विदेश में जो पैसा उन्होंने भेजा है, वो भी पूरी तरह से नियम-कानून के तहत भेजा है। भारत में टैक्स चुकाने के बाद भेजा है।

आपको बता दें कि पनामा की लॉ फर्म मोसेक फोंसेका के दस्तावेज लीक होने से अब तक के सबसे बड़े टैक्स लीक का खुलासा हुआ है। इन दस्तावेजों से खुलासा हुआ है कि कैसे दुनिया की ताकतवर हस्तियां अपना टैक्स बचाने के लिए टैक्स हैवन का इस्तेमाल करती है और अपनी बेशुमार दौलत को छिपाती हैं। सामने आए भारतीय नामों में इनमें अमिताभ बच्चन से लेकर ऐश्वर्या रॉय बच्चन, डीएलएफ के मालिक केपी सिंह और उनके परिवार के 9 सदस्य के नाम शामिल हैं।