जनता तय करेगी यूपी के 'राम' का नाम : अमित शाह

नई दिल्ली (27 मई): अमित शाह ने बजरंग दल के कैंप पर बयान देते हुए कहा कि अगर गैर कानूनी है तो सरकार कार्रवाई करे। वे अपने सरकार के दो साल पूरे होने पर केंद्र की तरफ से रिपोर्ट कार्ड पेश कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बहुत समय बाद बीजेपी और एनडीए के रूप में विकास के रास्ते पर चलने वाली सरकार देश को मिली है। उन्होंने कहा कि अटल जी के समय जो विकास की गाथा शुरू हुई थी, उसे 10 साल अपने कार्यकाल में यूपीए सरकार ने बर्बाद कर दिया था। हमने भ्रष्टाचार मुक्त सरकार दी। हमारी सरकार गांव और शहरों दोनों के विकास की ओर काम कर रही है।

और क्या बोले अमित शाह... > रघुराम राजन के ऊपर हो रही बयानबाजी को लेकर अमित शाह ने कहा कि आरबीआई गर्वनर पर फैसला पार्टी नहीं करती। > यूपी में सीएम उम्मीदवार के सवाल पर अमित शाह ने कहा कि जनता तय करेगी यूपी का 'राम' कौन होगा। > बजरंग दल के ट्रेनिंग कैंप पर अमित शाह ने कहा कि अगर यह कैंप गैर कानूनी है तो सरकार कार्रवाई करे। > 1700 करोड़ से ज्यादा रुपे कार्ड जारी हुए। > 16 किमी. की रफ्तार से सड़क निर्माण का काम हो रहा है। > वन रैंक, वन पेंशन मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धि।

18,500 गांवों में बिजली और 3 करोड़ लोगों को मिलेंगे घर > 18,500 गांवों में बिजली पहुंचाएंगे। > गरीबों के लिए तीन करोड़ घर का लक्ष्य रखा गया है। > हमने भ्रष्टाचार मुक्त सरकार दी। हमारी सरकार गांव और शहरों दोनों के विकास की ओर काम कर रही है। > दो साल के अंदर हमारी सरकार पर किसी प्रकार के भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा।

यूपीए ने रोकी अटल जी द्वारा शुरू की गई विकास यात्रा > सरकार द्वारा जनता की समस्याओं को जल्द से जल्द निपटाने का काम हुआ है। इसका ताजा उदाहरण NEET पर अध्यादेश का है। > अटल जी के समय जो विकास की गाथा शुरू हुई थी, उसे 10 साल में यूपीए ने बर्बाद कर दिया था। > विकास पर्व के नाम पर हमारी सरकार जनता के बीच जाएगी। इसके लिए 30 टीमें बनाई गईं हैं। > अमित शाह ने कहा कि कल से 15 दिन तक विकास पर्व चलेगा। इसके लिए 200 जगहों पर जनसंपर्क अभियान करेंगे।

क्या है रुपे कार्ड रुपे कार्ड एक स्वदेशी एटीएम कार्ड है। इसके द्वारा आप दुर्घटना बीमा का लाभ उठा सकते हैं। यह कार्ड प्रधानमंत्री जन-धन योजना में खाताधारक लोगों को जारी किया जाता है। रुपे कार्ड के जारी करने के साथ ही भारत उन चुनिंदा देशों में शामिल हो गया है जिनके पास खुद का पेमेंट गेटवे है। अमेरिका, जापान और चीन के बाद इस सूची में शामिल होने वाला भारत चौथा देश है।