अमित शाह का विवादित बयान, महात्मा गांधी को बताया 'चतुर बनिया'

दिल्ली ( 10 जून): छत्‍तीसगढ़ के दौरे पर गए बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि कांग्रेस कभी सिद्धांतों पर आधारित पार्टी नहीं रही। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कांग्रेस का जिक्र किया जिसमें उन्होंने महात्मा गांधी को एक 'चतुर' बनिया बताया।


अमित शाह ने कहा, 'कांग्रेस किसी एक विचारधारा के आधार पर किसी एक सिद्धांत के आधार पर बनी हुई पार्टी ही नहीं है, वह आजादी प्राप्त करने का एक स्पेशल पर्पज व्हीकल है, आजादी प्राप्त करने का एक साधन था और इसलिए महात्मा गांधी ने दूरदर्शी के साथ, बहुत चतुर बनिया था वो, उसको मालूम था कि आगे क्या होने वाला है, उसने आजादी के बाद तुरंत कहा था, कांग्रेस को बिखेर देना चाहिए।


अमित शाह ने कहा कि महात्मा गांधी ने कांग्रेस को खत्म करने का काम नहीं किया, लेकिन अब कुछ लोग उसको बिखेरने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा इसीलिए महात्मा गांधी ने कहा था, क्योंकि कांग्रेस की कोई विचारधारा ही नहीं है, देश चलाने के, सरकार चलाने के कोई सिद्धांत ही नहीं थे।


बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि हम अपनी विचारधारा को लेकर स्पष्ट हैं और हम लोगों के लिए साफ है कि जो देशद्रोही नारे लगाएगा वो देशद्रोही कहलाया जाएगा। अमित शाह ने कहा कि देश की 1650 राजनीतिक पार्टियों में से केवल बीजेपी और सीपीएम का आंतरिक लोकतंत्र है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कांग्रेस में अगर सोनिया गांधी अध्यक्ष पद छोड़ती हैं तो राहुल गांधी को वह जगह दी जाएगी, लेकिन कोई नहीं जानता कि बीजेपी का अगला अध्यक्ष कौन होगा।