पर्ल हॉर्बर पहुंचा भारत, इंडो-यूएस मरीन करेंगे साझा युद्धाभ्यास

नई दिल्ली (25 अगस्त): भारत एवं अमेरिका के बीच रक्षा सहयोग के तहत अमेरिकी पोत यूएसएस पर्ल हार्बर आज गोवा पहुंचा। अमेरिका का जल और थल में काम करने में सक्षम यह डाक लैडिंग शिप पहली बार भारत आया है। यूएसएस पर्ल हार्बर पोत पर 700 से अधिक नाविक और मरीन शामिल हैं। इस दौरे के तहत 15वीं मैरीन एक्सपीडेटरी यूनिट (एमईयू) भी आयी है। यह अमेरिकी मरीन कोर की सात मरीन एक्सपीडेटरी यूनिटों में एक है।

अमेरिकी दूतावास ने एक बयान में कहा कि गोवा में इस पोत के नाविक एवं मरीन भारतीय नौसेना के मरीन कमांडो के साथ जल-थल-आकाश में युद्धकौशल संबंधित अभ्यास करेंगे। यूएसएस पर्ल हार्बर के कमांडिंग अधिकारी थेयोडोर एसेनफेल्ड ने कहा, ‘‘हम भारत दौरे के अवसर से उत्साहित है।’’ उन्होंने कहा कि पर्ल हार्बर के नाविक एवं मरीन भारत की संस्कृति एवं परंपराओं का अनुभव लेने और भारतीय नौसेना के साथ अमेरिका की नौसेना की दीर्घकालिक भागीदारी को मजबूती देने के लिए उत्साहित है।