बदनाम बाजारों की लिस्ट में ये भारतीय बाजार

नई दिल्ली ( 23 दिसंबर ): अमेरिकी एजेंसी ने दिल्ली के गांधी नगर और कश्मीरी गेट और चेन्नई के बर्मा मार्केट को ग्लोबल पायरेसी का अड्डा बताया है। उसके मुताबिक, ये बड़े व्यावसायिक केंद्र भारत में नक्कालों के बड़े अड्डे हैं। ये बातें गुरुवार को जारी स्पेशल 301 आउट ऑफ साइकल रिव्यू ऑफ नोटोरियस मार्केट्स फॉर 2016 में लिखी हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, '2016 के नोटोरियस मार्केट्स प्रोसेस में संबंधित पक्षों ने भारत के उन बाजारों के बारे में बताया है जहां नकली अपैरल, फुटवेयर, ऑटोमोबाइल और ऑटो पार्ट्स, इलेक्ट्रॉनिक्स, लेदर गुड्स, मोबाइल फोंस, सीडी और डीवीडी और लग्जरी गुड्स धड़ल्ले से बिकते हैं।'

रिव्यू में दुनियाभर के ऐसे फिजिकल और ऑनलाइन मार्केट्स के बारे में बताया गया है, जहां बड़े पैमाने पर कॉपीराइट की पायरेसी और ट्रेडमार्क फर्जीवाड़े होते हैं। यूनाइटेड स्टेट्स ट्रेड रेप्रजेंटेटिव माइकल फ्रॉमैन ने कहा, 'बदनाम मार्केट्स की हमारी लिस्ट में ऑनलाइन और ऑनलाइन मार्केट्स की कुछ अहम मिसालें दी गई हैं, जहां बड़े पैमाने पर अमेरिकी कारोबारियों के इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स का उल्लंघन होता है।'

दिल्ली के गांधी नगर में बड़े पैमाने में मशहूर ब्रैंड्स के नकली लेबल वाले कपड़े बिकते हैं जबकि कश्मीरी गेट पर नकली ऑटो पार्ट्स का बड़ा बाजार है। इसके अलावा चेन्नई के बर्मा बाजार में नकली सामान और तरह-तरह की पायरेटेड मीडिया डिस्क्स बिकती हैं। बदनाम बाजारों की अमेरिकी की लिस्ट में दिल्ली के नेहरू प्लेस और सदर बाजार पहले से शामिल हैं।

अमेरिका ने अपने रिव्यू में लिखा है कि उसकी पुरानी लिस्ट में भारत के बहुत से बाजारों का जिक्र हुआ है जिनके खिलाफ उठाए मुद्दों पर भारत सरकार की तरफ से कोई सार्थक और प्रभावी पहल नहीं हुई है। वह चाहता है कि भारत सरकार बदनाम बाजारों की उसकी लिस्ट में शामिल नए और पुराने नामों के खिलाफ कुछ कार्रवाई करे।