भारतीय मूल की श्रुति बनी अमेरिकी डीएनसी की सबसे युवा डेलीगेट

नई दिल्ली (30 जुलाई): भारतीय मूल की 18 वर्षीय श्रुति डेमोक्रेटिक नेशनल कन्वेंशन (डीएनसी) की यहां सबसे युवा डेलीगेट बनी गई है। सीडर रेपिड्स की रहने वाली और हॉवर्ड विश्वविद्यालय की छात्रा श्रुति पालानीअप्पन हिलेरी की बहुत बड़ी समर्थक हैं।

श्रुति के पिता पालानीअप्पन अंदीअप्पन ने भी कड्रेंनशल्ज़ समिति के सदस्य के तौर पर कन्वेंशन में शामिल हुए थे। श्रुति यहां की मीडिया और डेलीगेट्स के बीच आकषर्ण का केंद्र रही जिनमें अरिजोना की 102 वर्ष की जैरी एम्मेट भी थीं जो कन्वेंशन में सबसे बुजुर्ग डेलीगेट हैं।