'शक्तिमान' के दर्द से पिघला अमेरिकी, 12,000 किमी दूर से 'पैर' लेकर पहुंचा भारत

देहरादून (15 अप्रैल): विधानसभा के बाहर प्रदर्शन के दौरान भारतीय जनता पार्टी के विधायक गणेश जोशी की लाठी पुलिस के घोड़े 'शक्तिमान' पर लगी। इसके बाद उसका पैर टूट गया। 'शक्तिमान' की टूटे टांग की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं थीं। इसके बाद सोशल साइट पर ही अमेरिका के 54 साल के टीम महोनी ने शक्तिमान को देखा और उनका कलेजा इसके लिए पिघल गया।

वे सिर्फ 'शक्तिमान' के लिए 12,000 किमी. से भी ज्यादा की दूरी तय की और कृत्रिम पैर लेकर देहरादून पहुंचे। उनके द्वारा लाए गए पैर के बल पर अब शक्तिमान 45 दिनों के अंदर फिर से चल सकेगा। 

क्या है मामला विधानसभा के बाहर प्रदर्शन के दौरान मसूरी विधायक गणेश जोशी की लाठी से घोड़े के टांग पर चोट लगी। इसके बाद घोड़े की टांग टूट गई। हालांकि जोशी ने कहा कि उन्होंने घोड़े पर हमला नहीं किया था।

घोड़े का इलाज कर रहे सर्जन ने फेसबुक पर एक पोस्ट के जरिए घोड़े के लिए कृत्रिम पैर लाने की बात कही। उन्होंने लिखा था कि वर्जिनिया से यह पैर लाने में 8 से 10 दिन लग जाएंगे, इस बीच अगर कोई भारत आ रहा हो तो कृपया अपने साथ कृत्रिम पैर लेते आए।

टिम महोनी ने यह पोस्ट पढ़ा और तय कर लिया कि वे घोड़े के लिए कृत्रिम पैर लेकर जाएंगे। बैंक ऑफ अमेरिका में काम करने वाले टीम पहले वर्जिनिया गए और वहां से घोड़े के लिए कृत्रिम पैर लिया और फिर इसे लेकर 9 अप्रैल को देहरादून पहुंचे और घोड़े को यह पैर लगा दिया गया। टीम ने बताया कि उन्हें यह घोड़ा बहुत अच्छा लगा और इसे अपने द्वारा लाए गए पैर पर खड़े होते देख बहुत खुशी हुई।