तीसरे विश्वयुद्ध की आहट, अमेिरकी टैंको ने रूसी सीमा को घेरना किया शुरु

नई दिल्ली (5 अप्रैल): अब तक के इतिहास में पहली बार अमरीकी टैंक रूसी सीमा के 700 किलोमीटर की दूरी पर पहुंच गए हैं। रशिाय टूडे की रिपोर्ट के मुताबिक़, अमरीकी ने टैंकों और अन्य भारी हथियारों को रूसी सीमा से लगे एस्टोनिया में तैनात कर दिया है। रूस के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि अमरीका ने उसकी सीमा के इतने निकट अपने हथियारों को तैनात करके, मास्को को इतनी बड़ी चुनौती पेश की हो। दुनिया के रणनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि तीसरे विश्वयुद्ध की स्थिति में पहुंचने से पहले अमेरिका रूस को सभी ओर से घेर कर रखना चाहता है। इसे उन्होंने तीतरे विश्व युद्ध की आहट भी माना है। 


 वाशिंग्टन द्वारा इन आधुनिक सैन्य उपकरणों की तैनाती से पता चलता है कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने भी पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा का अनुसरण करते हुए, रूस विरोधी नीति पर काम करना शुरू कर दिया है। बराक ओबामा ने पूर्वी यूरोप में पोलैंड और रोमानिया को अमरीकी मिसाइल शील्ड की तैनाती के लिए चुना था। रूस को अपनी सीमाओं पर नए अनुभवों का ऐसी स्थिति में सामना करन पड़ रहा है, जब अमरीका और नैटो दिन प्रतिदिन उसकी सीमाओं के क़रीब आते जा रहे हैं।