अमेरिका ने भी माना मोदी का लोहा, पॉम्पियो बोले- मोदी है तो मुमकिन है

Mike Pompeo

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 जून): अमेरिका के विदेश मंत्री ने पीएम मोदी के चुनावी नारे को मोदी है तो मुमकिन को दुहराया है। माइक पोम्पिओ ने यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल के इंडिया आइडियाज समिट में बोलते हुए कहा कि जिस तरह चुनाव प्रचार में मोदी ने कहा था कि 'मोदी है तो मुमकिन है।' भारत और अमेरिका के बीच संबंध को भी मैं उसी तरह से आगे बढ़ते हुए देखता हूं। माइक पोम्पिओ ने यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल के इंडिया आइडियाज समिट के दौरान कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान नारा दिया 'मोदी है तो मुमकिन है' या 'मोदी मेक्स इट पॉसिबल', हम भी भारत और अमेरिका के बीच संबंध को आगे बढ़ते देख रहे हैं। पीएम मोदी को चुनावों में हाल में मिली जीत ने विश्‍व स्‍तर पर अहम भूमिका निभाने वाले सशक्त भारत के लिए अपने दृष्टिकोण को लागू करने के लिए अच्‍छा मौका दिया है।' साथ ही उन्‍होंने बताया कि वह इस महीने के अंत में नई दिल्ली की यात्रा, पीएम मोदी और उनके नए विदेश मंत्री एस जयशंकर से मिलने को लेकर बेहद उत्सुक हैं।

उन्होंने कहा, 'मैं इस महीने के अंत में नई दिल्ली की यात्रा, पीएम मोदी और उनके नए विदेश मंत्री एस जयशंकर से मिलने के लिए बहुत उत्सुक हूं।' मालूम हो माइक पोम्पिओ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात के दौरान भारत और अमेरिका के मध्य सामरिक साझेदारी के एक महत्वाकांक्षी एजेंडे पर चर्चा करेंगे। पोम्पिओ 24 से 30 जून तक हिंद-प्रशांत क्षेत्र के चार देशों- भारत, श्रीलंका, जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा करेंगे।

माइक पोम्पिओ इसी महीने भारत के दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान माइक पोम्पिओ की मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर से भी होगी। भारत आने से पहले माइक पोम्पिओ ने हिंदुस्‍तान के साथ अपने देश के संबंधों को बेहद महत्वपूर्ण करार दिया है। उन्होंने कहा कि उनका आगामी दौरा भारत के साथ अमेरिका के महत्वपूर्ण संबंधों को और प्रगाढ़ करने पर केंद्रित होगा। यह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की उस अहम रणनीति का हिस्सा है जिसके तहत हिंद-प्रशांत क्षेत्र में स्वतंत्र आवाजाही के साझा लक्ष्य को मजबूत करना है।