मसूद अजहर पर पाबंदी के लिए UN पहुंचा अमेरिका, चीन ने फिर किया विरोध

न्यूयॉर्क (8 फरवरी): जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित किए जाने के मामले में भारत को बड़ी कूटनीतिक कामयाबी मिली है। अमेरिका ने मसूद अजहर को बैन करने के लिए संयुक्त राष्ट्र का रुख किया है। हालांकि चीन ने ट्रंप प्रशासन के इस कदम का विरोध किया है।

भारत लंबे समय से पठानकोट आतंकी हमले के मास्टरमाइंड मसूद अजहर को बैन करने की मांग कर रहा है। पिछले दिनों चीन ने यूएन में मसूद अजहर को बैन करने के प्रस्ताव पर तकनीकी रोक लगाने के बाद दिसंबर में स्थाई रोक लगा दी थी। इसके बाद यह मामला तबतक के लिए ठंडे बस्ते में चला गया था जबतक संयुक्त राष्ट्र में 15 देशों के सदस्यों वाली सुरक्षा परिषद का कोई सदस्य फिर से प्रस्ताव नहीं लाता।

अमेरिका सुरक्षा परिषद के 5 स्थाई सदस्यों में से एक है। अमेरिका ने फ्रांस और ब्रिटेन के समर्थन से सुरक्षा परिषद की प्रतिबंध कमिटी के सामने एक प्रस्ताव पेश किया है। इसमें मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करते हुए उसपर बैन की मांग की है। सूत्रों के मुताबिक चीन ने इस प्रस्ताव को एक बार फिर होल्ड कर दिया है।