आतंकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान के बारे मेंं अमेरिका लेने वाला है यह बड़ा फैसला...!

नई दिल्ली (9 जून): अमेरिकी सांसद पाकिस्तान को बिल्कुल अलग-थलग करने और उसे सबक सिखाने पर उतर आये हैं। पंद्रह सालों में पाकिस्तान के रवैये में कोई बदलाव न आने से नाराज़ अमेरिकी सांसद चाहते हैं कि व्हाइट हाउस पाकिस्तान पर स्पष्ट नीति की घोषणा करे। इसी के साथ उन लोगों को सजा दे जिनके हाथ अमेरिकियों के खून से रंगे हुए हैं। अमेरिकी सांसदों ने अगले हफ्ते सदन में पाकिस्तान पर विशेष चर्चा आयोजित की है।  जिसमें पाकिस्तान आतंक के खिलाफ युद्ध में अमेरिका का दोस्त है या दुश्मन- विषय पर बहस होगी।

आतंकवाद, परमाणु अप्रसार एवं व्यापार से संबंधित अमेरिकी संसदीय उप समिति के अध्यक्ष टेड पो ने कहा है कि इस चर्चा से सदन के सदस्यों को आतंकी समूहों के साथ पाकिस्तान के पुराने संबंधों के बारे में जानने और पाकिस्तान को लेकर अमेरिका की विदेशी नीति के बेहतर पुनर्मूल्यांकन का मौका मिलेगा। एक अन्य कांग्रेस सदस्य मैट सैलमोन ने पाकिस्तान के कथित दोहरे खेल को लेकर कहा कि 9/11 हमले के बाद से करदाताओं के अरबों डॉलर पाकिस्तान को दिये जा चुके हैं। इसके बावजूद पाकिस्तान की सैन्य और खुफिया एजेंसियां आतंकवादी संगठनों को पाल पोष रहे हैं और अमेरिकी हितों को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

टेड पो ने कहा, आतंकी समूहों के साथ पाकिस्तान के संबंधों के पुराने इतिहास के काफी सबूत हैं, इनमें वे आतंकी समूह भी शामिल हैं जिनके हाथ अमेरिकियों के खून से रंगे हैं। उन्होंने कहा, पाकिस्तान की सैन्य खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस पाकिस्तान के पड़ोसियों पर प्रभाव डालने के लिए तालिबान,अलकायदा और हक्कानी नेटवर्क सहित विभिन्न आतंकी समूहों को समर्थन दे रही है।