कभी भी छिड़ सकता है अमेरिका और रूस में युद्ध

नई दिल्ली (8 अप्रैल): सीरिया को लेकर एक बार फिर अमेरिका और रूस में युद्ध की स्थिति बन गई है। यूएस के शरयात एयरबेस पर 59 टॉमहॉक क्रूज़ मिसाइल दागने के बाद रूस ने अमेरिका के साथ अपना हॉटलाइन संपर्क भी काट दिया है। इस हॉटलाइन का इस्तेमाल करके ही रूस और अमेरिका सीरिया में सीधी भिड़ंत से बचने के लिए अपनी-अपनी सैन्य कार्रवाई के बारे में एक-दूसरे को सूचित करते रहे हैं।


रूस के प्रधानमंत्री दिमित्री मिदवेदेव ने अमेरिका को चेतावनी दी है कि उसके द्वारा किए गए इस हमले के कारण मॉस्को और वॉशिंगटन के बीच सैन्य टकराव केवल एक इंच दूर रह गया है।


- रूस ने क्रूज मिसाइल्स से लैस अपने लड़ाकू जहाजों को ब्लैक सी से लाकर सीरिया के बंदरगाह पर तैनात करने का आदेश जारी किया है।

- इसके अलावा पुतिन ने सीरिया में पहले से ही बड़ी संख्या में तैनात सतह से हवा में मार करने वाली S-400 और S-300 मिसाइलों की नई खेप को भी तैनात करने का निर्देश दिया है।

- इन मिसाइलों और लड़ाकू विमानों को रूसी फौज और असद की सीरियन सेना की सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा।