अब जल्द मिल सकेगा एच-1बी वीजा, शुरू हुई प्रीमियम प्रोसेसिंग

नई दिल्ली(19 सितंबर): मेरिका ने सभी श्रेणियों में एच-1बी वीजा जारी करने की प्रीमियम सेवा फिर शुरू कर दी है। इस सेवा के तहत एच-1बी वीजा जारी करने की प्रक्रिया 15 दिनों के भीतर पूरी कर ली जाती है। भारतीय आइटी पेशेवर इसका सबसे ज्यादा लाभ उठाते हैं।

- एच-1बी वीजा एक गैर आव्रजन वीजा है जो अमेरिकी कंपनियों को विशेषज्ञता वाले पेशों में विदेशी कर्मचारियों को तैनात करने की अनुमति देता है। हर साल हजारों कर्मचारियों को तैनात करने के लिए प्रौद्योगिकी कंपनियां इसी वीजा पर निर्भर रहती हैं।

- यूएस सिटीजनशिप एंड इमिग्रेशन सर्विसेज ने कल वित्त वर्ष 2018 के लिए एच-1बी वीजा याचिकाओं की प्रीमियम प्रोसेसिंग को शुरू कर दिया।

- वित्त वर्ष 2018 के लिए सीमा 65 हजार वीजा की रखी गई है। प्रीमियम प्रोसेसिंग का काम वार्षिक तौर पर 20,000 अन्य याचिकाओं के लिए भी शुरू किया गया है। 

- जब कोई याचिकाकर्ता एजेंसी की प्रीमियम सेवा का लाभ लेता है तो यूएससीआईएस 15 दिन में वीजा पर काम होने का दावा करता है। 

- यूएससीआईएस ने कहा, यदि वीजा आवेदन पर काम करने की 15 दिनों की सीमा में काम नहीं होता तो एजेंसी याचिकाकर्ता के प्रीमियम प्रोसेसिंग सेवा शुल्क को वापस नहीं करेगी और त्वरित गति से आवेदन के निपटान की कोशिश जारी रखेगी। 

- यूएससीआईएस ने कहा कि यह अतिरिक्त सेवा सिर्फ लंबित याचिकाओं के लिए है।