पाकिस्तान की छत्र-छाया में पल रहे खूंखार आतंकी गिरोहों को आमेरिका ने काली सूची में डाला

नई दिल्ली (26 मई): मुल्ला अख्तर मंसूर को मारे जाने के तीन दिन बाद ही अमेरिका ने पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका दिया है। अमेरिका पाकिस्तान के दो और संगठनों को आतंकी गिरोह की सूची में डाल दिया। इन दोनों गिरोहों को अमेरिका 'स्पेशियली डेजिगनेटेड ग्लोबल टेररिस्ट'की श्रेणी में डाला है। इन दोनों आतंकी गिरोहों के नाम क्रमशः तारीक गिदार ग्रुप (टीजीजी)और जमाअत-उल-दावा-एल कुरान (जेडीक्यू)है।

अमेरिका ने कहा कि ये दोनों गिरोह अमेरिकी जनता, सुरक्षा बल, विदेश नीति और अर्थव्यवस्था के लिए खतरा बन चुके हैं। इस लिए इन्हें आतंकी गिरोहों की सूची डाला गया है। अमेरिका ने कहा है कि टीजीजी, पाकिस्तानी तालिबान यानू टीटीपी का ही एक विंग है। इसका मुख्यालय डेरा आदम खेल में है। यही गिरोह पेशावर के आर्मी स्कूल पर हमले में शामिल था। इस गिरोह का नेता उमर मंसूर है। जिसने इसी साल जनवरी में बाचा ख़ान यूनिवर्सिटी पर हमला करवाया था।

जबकि दूसरा गिरोह जेडीक्यू अलकायदा और लशकर-ए-तैयबा के साथ मिल कर आतंकी वारदातों को अंजाम देता है। यह पेशावर और पूर्वी अफगानिस्तान में सक्रिय है। पाकिस्तान से संचालित इन दोनों गिरोहों को आतंकी सूची में डालने से नवाज शरीफ सरकार और उन लोगों को काफी बड़ा धक्का लगा है जो पाकिस्तान में हो रही आतंकी गतिविधियों में कथित रूप से भारत का हाथ होने के फर्जी कयास लगाते रहते थे।