अस्पताल ने ऐंबुलेंस देने से किया इनकार, कंधे पर ले गए शव

पटना(9 मार्च): बिहार में मुजफ्फरपुर जिले के एक सरकारी अस्पताल में कथित तौर पर ऐंबुलेंस देने से इनकार करने के बाद एक महिला के रिश्तेदारों को उसका शव कंधे पर लादकर घर ले जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। इस मामले ने कालाहांडी और वैशाली की घटनाओं की यादों को ताजा कर दिया है।

- सिविल सर्जन ललिता सिंह ने बताया कि यहां के शिवपुरी इलाके के रहने वाले और श्रमिक सुरेश मंडल की पत्नी को 18 फरवरी को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनकी हालत खराब होने पर उन्हें आईसीयू में ले जाया गया, जहां उनकी मृत्यु हो गई। मृतक महिला के पति ने बताया कि उन्हें ऐंबुलेंस क्यों नहीं दी गई।

- उन्होंने कहा कि महिला के परिवार के सदस्यों के पास निजी ऐंबुलेंस लेने के लिए पर्याप्त पैसे नहीं थे तो उन्होंने अस्पताल प्रशासन से अनुरोध किया कि शव को घर ले जाने के लिए उन्हें एक ऐंबुलेंस दी जाए। सिंह ने कहा कि अस्पताल उन्हें ऐंबुलेंस मुहैया नहीं करा सका और उनके परिवार के सदस्यों को एक किलोमीटर की दूरी तक उनका शव अपने कंधों पर लादकर ले जाना पड़ा।