जहां प्यार हुआ वहीं हादसा, फिर स्ट्रेचर पर पहुंची लड़की और मंडप बना एंबुलेंस

बेंगलुरु (7 जून): उसने भी शादी के सपने संजोए थे। वो भी लाल जोड़े से सजी दुल्हन बनकर नया जीवन शुरू करना चाहती थी। उसके सपने थे कि कोई राजकुमार जैसे आए और उसे दुल्हन बनाकर ले जाए। लेकिन किस्मत ऐसे मोड़ पर लाकर खड़ा कर देगी उसने सोचा भी न था।

उसकी शादी तो हुई लेकिन सपने पूरे नहीं हुए। उसने जोड़ा तो पहना लेकिन वो लाल नहीं बल्कि अस्पताल में मिलने वाले कपड़े थे। उसकी शादी के लिए मंत्र तो पढ़े गए लेकिन वो मंडप में नहीं बल्कि एंबुलेंस में। जी हां... ये कहानी है कर्नाटक के नेत्रावती नाम की लड़की की, जिसकी शादी स्टे्रचर पर लेटे-लेटे एंबुलेंस के अंदर गुरुस्वामी से हुई। 

गुरुस्वामी और नेत्रावती जहां मिले वहीं पर आगे चलकर उसके साथ हादसा हो गया। जिसके कारण उसके धूमधाम से शादी के सपने टूटकर बिखर गए। दोनों चित्रदुर्ग किले में मिले थे। इस मिलन के साथ ही दोनों को एकदूसरे से प्यार हो गया। 24 मई को भी दोनों वहां पर घूमने गए थे तभी नेत्रावती फिसल गई और यह हादसा हो गया।

इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया। सात दिन तक इलाज चला फिर लड़की ने अपनी शादी के लिए घर लौटने का फैसला किया। डॉक्टर्स ने इन्हें बेडरेस्ट के लिए कहा तो एंबुलेंस में ही शादी की रस्में निभा डालीं। इधर, डॉक्टर्स ने कहा कि अभी तो नेत्रावती ठीक हो जाएगी लेकिन हो सकता है कि इसे आगे चलकर एक बड़ी सर्जरी का दर्द भी झेलना पड़ सकता है।