अब तीसरे रास्ते से भी होगी अमरनाथ की यात्रा

आसिफ सुहाफ, श्रीनगर (4 जून): अमरनाथ यात्रा पहले बालटाल और पहलगाम के रास्ते से होती थी, लेकिन अब बाबा यह यात्रा तीसरे रास्ते से भी होगी। वहीं विश्व हिन्दू परिषद ने कहा है कि कश्मीर के हालात खराब नहीं है और बाबा के भक्तों को ज्यादा से ज्यादा आए।

श्रदालु अब लेह के रास्ते से भी यात्रा कर सकेंगे। प्रशासन ने अब लेह के रास्ते से आने वाले यात्रियों के लिए पंजीकरण की व्यवस्था कर दी है। चाहे जितने भी श्रदालु आए उनका पंजीकरण वहीं से कर दिया जाएगा। श्रदालुओं के लिए सारे उचित प्रबंध कर दिए गए है।

कश्मीर के तीन जिलों से यात्री निकलकर बाबा से दर्शनों के लिए जाते है। पिछले साल बुरहान वाणी के मारे जाने के बाद घाटी के हालात बिगड़े थे, उसके बाद यात्रा के काफी कमी आई थी। लेकिन प्रशासन ने साधू समाज और विश्व हिन्दू परिषद को साथ लेकर यात्रा में वृद्धि हो एक अहम कदम उठाया है।

विश्व हिन्दू परिषद का भी कहना है कि सारे कश्मीर में हालात खराब नहीं है, लेकिन तीन जिलों में चंद पत्थर बाज़ी की घटनाएं होती है। सुरक्षा को लेकर काफी ज्यादा संतुष्ट विश्व हिन्दु परिषद के अनुसार उन्होंने इस बारे में सूबे के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री से भी बात की है और वो पूरी तरह से आश्वस्त है कि सुरक्षा में किसी प्रकार की कमी नहीं है।