पीएसी से अमानतुल्ला का इस्तीफा मंजूर, बयानबाजी से केजरीवाल आहत: मनीष सिसोदिया

नई दिल्ली ( 2 मई ): आप विधायक अमानतुल्ला खान ने आखिरकार आप की पीएसी से इस्तीफा दे दिया है। इससे पहले खान के आरोपों से नाराज कुमार विश्वास ने पार्टी की पीएसी की बैठक में जाने से इनकार कर दिया था। कुमार को मनाने के लिए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया उनके घर गए, लेकिन खबरों के मुताबिक कुमार अमानतुल्ला खान को पीएसी से निकालने पर अड़े रहे।


इसके बाद अब एक बार फिर आम आदमी पार्टी की अंदरूनी कलह खुलकर सामने आ गई है। अरविंद केजरीवाल की उनके प्रति नाराजगी सामने आई है। इसकी जानकारी खुद मनीष सिसोदिया ने दी है। वह पार्टी की पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी (PAC) की मीटिंग के बाद बाहर पत्रकारों से यह बात कही।


दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, 'मीटिंग में पहले कुमार विश्वास पर अमानतुल्ला द्वारा लगाए गए आरोपों पर नाराजगी जाहिर की गई। अमानतुल्ला खान ने PAC इस्तीफा दे दिया है जिसे स्वीकार कर लिया गया है।' इसके बाद सिसोदिया बोले, 'मीटिंग में कुमार विश्वास नहीं आए। वह बाहर इंटरव्यू दे रहे हैं, वीडियो जारी कर रहे हैं। समिति के सदस्य और खुद अरविंद जी भी इस बात से काफी आहत हैं।' गौरतलब है कि एक दिन पहले ही केजरीवाल ने ट्वीट करके कुमार को अपना छोटा भाई बताया था।


सिसोदिया ने आगे कहा, 'पार्टी का कोई भी नेता, विधायक या कार्यकर्ता बाहर बयानबाजी न करे। जिसे जो शिकायत है वह अरविंद जी से आकर मिले, मुझसे मिले लेकिन बयानबाजी न करे। इस बयानबाजी से पार्टी को नुकसान पहुंच रहा है। अभी हमें दिल्ली में बहुत काम करना है। सीसीटीवी, वाईफाई, स्कूल और हेल्थ सिस्टम पर काम करना है। ऐसे बयानों से कार्यकर्ताओं का मनोबल टूटता है जो कि ठीक नहीं है। इसलिए वीडियो या बयानों के चक्कर में पड़ने की जगह सीधे हमसे आकर बात करें।


उधर, कमिटी से इस्तीफा देने के बाद अमानतुल्ला खान बोले कि वह आज भी कुमार विश्वास पर दिए अपने बयान पर कायम हैं। उन्होंने कहा ति आज केजरीवाल मेरी बात नहीं मान रहे हैं लेकिन वक्त आने पर जरूर मानेंगे। उन्होंने एक बार फिर कुमार विश्वास को BJP और आरएसएस का एजेंट बताते हुए कहा, 'कल जब बस्सी AAP विधायकों को जेल भेज रहे थे, उस वक्त विश्वास को पार्टी कार्यकर्ताओं की याद क्यों नहीं आई। उस वक्त वह अपने बर्थडे पर अजित डोभाल के साथ केक काट रहे थे।'