लालू का पीएम मोदी पर वार, कहा- लोग परेशान हैं और आप भाषण पर भाषण दे रहे हैं

नई दिल्ली ( 13 नवंबर ) : आरजेडी के मुखिया लालू प्रसाद यादव ने नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अगर ये सब करने के बाद भी लोगों को 15 लाख नहीं मिले तो इसका मतलब होगा कि यह 'फर्जिकल स्ट्राइक' था। और इसके साथ ही आम जनता का 'फेक-एनकाउंटर' भी।' लालू प्रसाद ने प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि मोदी जी, देश को भरोसा दीजिए कि जनता का 2 माह पूर्ण असुविधा देने और काले धन की उगाही के बाद सबके खाते में 15 लाख रुपये आएंगे।

आरजेडी प्रमुख ने कहा कि हम कालेधन के विरुद्ध हैं पर आपके कृत्य में दूरदर्शिता और क्रियान्यवयन का पूर्ण अभाव दिख रहा है। आम आदमी की सहूलियत का ख्याल रखना चाहिए। क्या सरकार 50 दिन के बाद आंकड़ा सार्वजनिक करेगी कि खातों में पैसे होने के बावजूद कितने लोग खाने और इलाज के अभाव और सदमे में मारे गए।

डिफॉल्टर पूंजीपति पांच सितारों में
आम आदमी कतारों में
आप विदेशी नजारों में।।

और ऊपर से कह रहे हो जो कतारों में है वो चोर-नाकारें है।
 लालू यादव ने पीएम मोदी से ट्वीट करके पूछा है कि अगर भ्रष्टाचार और कालाधन समाप्त करना चाहते हैं तो 2000 रुपये का नोट क्यों बनाया। उनका कहना है कि इस पर देश को शंका है। उन्होंने कहा कि क्या मोदी बताएंगे की लोगों के लंबी लाइनों में खड़े रहने की वजह से देश को कितने प्रोडक्शन का नुकसान हुआ? मोदीजी बताएं कितने पूंजीपतियों का कितना लाख करोड़ बैंकों पर बकाया है और उसकी उगाही के लिए सरकार क्या कठोर कदम उठा रही है? देश जानना चाहता है। आम आदमी को परेशान करने से पहले यह बताओ बैंकों का लाखों करोड़ डकारने वाले 'डिफॉल्टर्स' पर क्या कार्रवाई कर रहे है? ये उनको बचाने का नाटक तो नहीं। इस 'अभाव के कुंए' में देश को धकेलते समय आपने कहा कि कुछ दिन की बात है, फिर जेटली जी 15 दिन बोल गए और अब 50 दिन? निम्न वर्ग जूझ रहा है।'