अमेरिका के सबसे बड़े दुश्मन को ISI ने कराची में दे रखा है पनाह


वाशिंगटन (22 अप्रैल): दुनिया के सबसे खुंखार आतंकियों में से एक और अल-कायादा का सरगाना अल-जवाहिरी पाकिस्तान के कराची शहर में रह रहा है। और उसे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने पनाह दे रखा है। अमेरिका की मैगजीन न्‍यूजवीक की रिपोर्ट में दावा पाकिस्‍तान की इंटेलीजेंस एजेंसी ISI ने जवाहिरी को कराची में शरण दे रखी है। न्‍यूजवीक मैगजीन के मुताबिक पिछले साल अफगानिस्‍तान बॉर्डर पर अमेरिका के ड्रोन हमले में जवाहिरी बाल-बाल बच गया था। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के पूर्व उच्च अधिकारी ने न्यूजवीक से कहा कि जवाहिरी के अलावा उसका बेटा हमजा बिन लादेन को भी ISI ने पनाह दे रखी है।


जनवरी 2016 के पहले हफ्ते में ओबामा प्रशासन की ओर से पाकिस्‍तान के नियंत्रण वाले इलाकों में शहवाल घाटी में जवाहिरी को निशाना बनाने के लिए एक ड्रोन हमला किया था। इस इलाके में मौजूद आतंकियों के एक सरगना ने जानकारी दी है कि जवाहिरी बच गया लेकिन उसके छह बॉडीगार्ड्स मारे गए थे। इस ड्रोन ने ठीक उस कमरे के बगल वाले कमरे में हमला किया जहां पर जवाहिरी रुका था। कमरे से लगी हुई दिवार गिर गई थी और विस्‍फोट के बाद मलबा उस पर गिर गिया था। जवाहिरी का चश्‍मा टूट गया था लेकिन वह बच गया। जब अमेरिका का हमला हुआ तो जवाहिरी उससे बस 10 मिनट पहले ही उस कमरे से निकल गया था। इस आतंकी ने यह भी बताया कि उस समय जवाहिरी ने कसम खाई थी कि वह कभी भी जिंदा नहीं पकड़ा जाएगा। वह अब अमेरिका पर एक और बड़ा हमला होते देखना चाहता है।