धोनी की कप्तानी और संन्यास पर अजहरुद्दीन ने दिया बड़ा बयान, बोले...

नई दिल्ली (12 मई): वनडे और टी-20 फॉर्मेट में टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टीम को एक मुकाम तक पहुंचाया है। बतौर क्रिकेटर भी उन्होंने बहुत कुछ हासिल किया है और उन्हें अपने भविष्य पर फैसला करने का अधिकार मिलना चाहिए। यह कहना है पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन का। 

बता दें कि इससे पहले गांगुली ने कहा था कि चयनकर्ताओं को टीम इंडिया के भविष्य की सोचते हुए इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि आने वाले समय में कौन टीम का कप्तान होग। साथ ही उन्होंने कहा था कि अगर 2019 के विश्व कप में धोनी टीम का नेतृत्व करते हैं तो मेरे लिए यह फैसला हैरानी वाला होगा। वहीं गांगुली ने कोहली को तीनो फॉर्मेट का कप्तान बनाए जाने की बात कही थी।

अजहरुद्दीन ने गांगुली की इस बात पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'यह गांगुली की निजी राय है और मैं इसका सम्मान करता हूं। इसके साथ ही यह धोनी पर निर्भर करता है कि वह अपने भविष्य के बारे में क्या सोचते हैं। मेरा मानना है कि धोनी को यह फैसला करने मौका दिया जाना चाहिए कि उन्हें कब संन्यास लेना है।' उन्होंने कहा कि धोनी विश्व के सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में से एक है। उसने टीम इंडिया को कई टूर्नामेंट जीताएं हैं और टीम को सभी फॉर्मेट में नंबर एक बनाया है। उनके प्रदर्शन को नहीं भूलना चाहिए।

धोनी के संन्यास पर अजहर ने कहा कि इस पर मेरा बोलना बेहद मुश्किल है। यह निर्णय पूरी तरह से धोनी पर छोड़ देना चाहिए। उनकी सोंच पर छोड़ देना चाहिए। धोनी के खराब फॉर्म पर अजहर ने कहा कि लोगों के जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। लेकिन धोनी ने टीम अच्छी कप्तानी की है। जो खिलाड़ी उनके अंडर खेले हैं उनके लिए वे प्रेरणास्रोत हैं।

विराट की कप्तानी पर उन्होंने कहा कि इसमें कोई दोराय नहीं है कि धोनी के बाद विराट को वनडे और टी-20 का कप्तान बनाया जाना चाहिए।