उन्नाव गैंगरेप केस: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने CBI से 2 मई तक मांगी प्रोग्रेस रिपोर्ट

नई दिल्ली (13 अप्रैल): उन्नाव सामूहिक बलात्कार मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गैंगरेप पीड़िता के पिता की मौत मामले में शुक्रवार को सुनवाई करते हुए सीबीआई से 2 मई को 10 बजे सीबीआई से प्रोग्रेस रिपोर्ट तलब की है। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने कुलदीप व अन्य अभियुक्तों को गिरफ्तार करने का सीबीआई को निर्देश दिया है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने साफ फरमान सुनाया कि कुलदीप के अलावा अन्य अभियुक्तों को भी सीबीआई गिरफ्तार करे। साथ ही जमानत पर छूटे आरोपियों की जमानत भी सीबीआई निरस्त कराये। 

गुरूवार को ही इस मामले को स्वत: संज्ञान में लेते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश डीबी भोंसले तथा न्यायमूर्ति सुनीत कुमार की खंडपीठ ने सुनवाई के दौरान प्रदेश सरकार से जवाब-तलब किया था। हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा था कि विधायक की गिरफ्तारी क्यों नहीं हो रही है? वह आरोपी भाजपा विधायक को गिरफ्तार करेगी या नहीं? इस पर सरकार का पक्ष रखते हुए से महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह ने कहा था कि सामूहिक दुष्कर्म कांड में विधायक के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य नहीं हैं।

इससे पहले सीबीआई ने उन्नाव गैंगरेप मामले में तीन एफआईआर दर्ज करने के बाद शुक्रवार तड़के भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था, जिस पर अभी तक पूछताछ जारी है। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई सेंगर को कोर्ट में पेश करने की तैयारी कर रही है। हालांकि अभी तक सीबीआई की तरफ से कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं हुआ है।