राफेल पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बोले अरूण जेटली- 'झूठ की उम्र कम होती है'

                                                                                         Photo: ANI

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (14 दिसंबर): राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद बीजेपी और मोदी सरकार कांग्रेस को घेरने में जुट गई हैं। पहले भाजपा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा और इसके बाद सरकार के मंत्रियों ने कांग्रेस पर निशाना साधने में देरी नहीं की। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को कहा कि झूठ की मियाद बहुत कम होती है और राफेल मामले में यह झूठ कुछ महीनों तक चला।

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए कहा, 'झूठ की उम्र बहुत कम होती है और इस मामले में इसकी उम्र कुछ महीने तक रही। झूठ अपने गढ़ने वाले की विश्वसनीयता कम कर देता है।' वित्त मंत्री ने कहा कि राफेल डील ने देश के सुरक्षा एवं वाणिज्यिक हित दोनों की सुरक्षा की। उन्होंने कहा, 'सुरक्षा हित इसलिए सुरक्षित हुए क्योंकि इसने भारत की मारक क्षमता बढ़ाई और वाणिज्यिक हित इसलिए कि इसकी अंतिम लागत 2007 और 2012 की कीमत से कम है।'

एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए जेटली ने कहा, 'राफेल डील के बारे में सरकार की ओर से दिए गए सारे आंकड़े सही हैं और राहुल गांधी ने जो तथ्य पेश किए वे सभी झूठे हैं। मैंने इसे दिखाय दिया है। सच्चाई केवल एक होती है जबकि झूठ के कई पांव होते हैं। यही कारण है कि राहुल गांधी ने अलग-अलग आंकड़े पेश किए।' इस मौके पर जेटली के साथ रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद थीं।

राफेल सौदे की जांच संसद की संयुक्त समिति (जेपीसी) से कराने की विपक्ष की मांग को खारिज करते हुए जेटली ने कहा कि पार्टियों ने इस मामले में आरोप लगाए हैं तो जेपीसी में शामिल पार्टी के लोग निष्पक्ष कैसे रह सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह के मामलों की न्यायिक जांच ही हो सकती है। इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राहुल गांधी से अपने आरोपों के स्रोत बताने को कहा। शाह ने कहा कि राहुल गांधी ने राफेल डील पर लोगों को गुमराह किया है।