'कोहिनूर को अंग्रेजों से वापस लेकर रहेंगे'

नई दिल्ली (1 अगस्त):  भारत अपने कोहिनूर हीरे को वापस लाने के लिए सभी प्रयास करेगा। इंग्लैण्ड के शाही मुकुट में जड़ा 106 कैरेट का यह हीरा ‘टावर ऑफ लंदन’ में प्रदर्शन के लिए रखा गया है। ब्रिटिश सरकार ने हालिया बयान में यह कह कर इसे देने से इनकार किया है कि इसका कोई कानूनी आधार नहीं है।

अंग्रेजों ने 1849 में पंजाब को अपने अधीन करने और सिख साम्राज्य की संपत्तियों को जब्त करने के बाद करीब 20 करोड़ डॉलर की कीमत वाले इस कोहिनूर हीरे को भी लाहौर में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के खजाने को हस्तांतरित कर दिया गया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सरकार इस हीरे को वापस लाने के लिए कूटनीतिक और कानूनी दोनों तरीके से विचार कर रही है। कोहिनूर हीरे को वापस लाने का मुद्दा एक भावनात्मक मुद्दा भी रहा है और इसे वापस लाने के लिए सरकार पर राजनीतिक दबाव बढ़ने के बाद संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने हाल में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ बैठक की।