तिरंगा यात्रा पर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का छात्रों को नोटिस

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (24 जनवरी): तिरंगा देश के गौरव का प्रतीक है। देशवासी जब चाहे, जहां चाहे सम्मान के साथ इसे फहरा सकते हैं, लेकिन अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में कुछ छात्रों को तिरंगा यात्रा निकालना महंगा पड़ गया। मंगलवार को एएमयू में कुछ छात्रों ने तिरंगा बाइक यात्रा निकाली थी, जो एएमयू प्रशासन को नागवार गुजरी है। इसको लेकर प्रशासन ने दो छात्र नेताओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

छात्रों पर प्रशासन का आरोप है कि इन लोगों ने बिना इजाजत, कैंपस में बाइक रैली निकाली थी, इससे कैंपस में शैक्षणिक माहौल खराब हो सकता था, जिसको लेकर दोनों छात्र नेताओं को नोटिस भेजा गया है। वहीं, दूसरी तरफ देवबंद दारुल उलूम ने भी अपने छात्रों को एक नोटिस जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि गणतंत्र दिवस तक छात्र ट्रेन में सफर करने से बचें। क्योंकि, लगातार चेकिंग होती है जिससे बेवजह की परेशानी उठानी पड़ सकती है।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र नेता अजय सिंह की अगुवाई में यूनिवर्सिटी कैंपस में तिरंगा यात्रा निकाली गई थी। प्राक्टर ने छात्रों को नोटिस भेज कर जवाब मांगा है और अब इस मामले में सियासत शुरू हो चुकी है। इस मामले में सियासत का तड़का इसलिए भी लगा है, क्योंकि एक छात्र का संबंध बीजेपी विधायक दलबीर सिंह से है। यूनिवर्सिटी प्रशासन के इस फैसले पर विधायक दलबीर सिंह का कहना है कि ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि एएमयू ने उनके भतीजे को नोटिस भेजा है। उन्हें ऐसा लगता है कि उसने कोई गलत काम नहीं किया है।

अलीगढ़ से बीजेपी सांसद सतीश गौतम का कहना है कि आखिर तिरंगा यात्रा निकालने में क्या खराबी है। अगर विश्वविद्यालय में तिरंगा यात्रा नहीं निकाली जाएगी तो कहां निकाला जाएगा। विश्वविद्यालय कैंपस में न जाने कितनी गतिविधियां होती हैं लेकिन छात्रों को नोटिस नहीं भेजा जाता है। इस मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन ने एकतरफा कार्रवाई की है लेकिन छात्रों को डरने की जरूरत नहीं है। उन्हें प्रशासन और राज्य सरकार से पूरी मदद मिलेगी।