जमशेदपुर: अल कायदा के 2 आतंकी गिरफ्तार, घर से कई हथियार भी बरामद

जमशेदपुर (26 जनवरी): अलकायदा के दो आतंकियों को पुलिस ने जमशेदपुर से गिरफ्तार कर लिया है। ये आतंकी संगठन इंडिया सब कंटिनेंट (एक्यूआईएस) के हैं। दोनों की पहचान अहमद मसूद अकरम शेख उर्फ मसूद उर्फ मोनू और नसीम अख्तर उर्फ राजू के रूप में की गई है।

पुलिस को छापेमारी के दौरान सामी के घर से नाइन एमएम की एक पिस्तौल, पांच जिंदा कारतूस, मोबाइल, किताबें, मेमोरी कार्ड (जिसमें आतंकी मानसिकता को बढ़ावा देनेवाली सामग्री थी), आतंकी साहित्य के कागजात और अखबार की कटिंग ( कट्टरपंथ से संबंधित) मिले हैं। वहीं नसीम के पास से एक देसी कट्टा, .315 बोर की एक कारतूस और मोबाइल मिला है। एसएसपी ने बताया कि मसूद अलकायदा के लिए प्रचारक का काम करता था। उसी ने सामी को भी आतंकी ट्रेनिंग के लिए भेजा था।

क्या है पूरी कहानी अहमद मसूद अकरम ने पुलिस को बताया कि ओड़िशा निवासी अब्दुल रहमान उर्फ कटकी पिछले 12 साल से झारखंड में आतंकी तैयार करने में लगा है। दिल्ली पुलिस ने पिछले माह ओड़िशा से जिस अब्दुल रहमान उर्फ कटकी को गिरफ्तार  किया है, उससे वह 2003 में मिला था। 

जिहादी ट्रेनिंग के लिए कटकी ने वर्ष 2011 में अहमद मसूद को सऊदी अरब भेजा था। जहां से वह जिहादी ट्रेनिंग लेकर लौटा था। सऊदी अरब से लौटने के बाद उसकी मुलाकात धातकीडीह निवासी मो अब्दुल शामी से हुई थी। तब पता चला था कि अब्दुल शामी पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेकर लौटा है। अहमद मसूद के मुताबिक जमशेदपुर के पुरुलिया रोड निवासी नसीम अख्तर ने हथियार मुहैया कराया था।