गुरुग्रंथ साहब बेअदबी मामले में फंसे अक्षय कुमार, SIT ने पूछे 42 सवाल !



विशाल एंग्रीश, न्यूज 24, चंडीगढ़ (21नवंबर): बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार चंडीगढ़ में  एसआइटी के समक्ष आज पेश हुए। एसआईटी ने अक्षय कुमार से पूछताछ की है।  करीब 1 घंटा 48 मिनट तक अक्षय से चली पूछताछ। इस दौरान अक्षय कुमार से 42 के करीब सवाल  पूछे गए। फिलहाल अक्षय कुमार चंडीगढ़ में पंजाब पुलिस हेडक्वार्टर के अंदर ही मौजूद है। पूछताछ के बाद अक्षय कुमार के बयानों पर दस्तखत और कागजी कार्यवाही का सिलसिला जारी है। 


अक्षय कुमार ने एसआईटी को दिए बयान में कहा है, 'मुझे नहीं पता कि मेरा नाम इस विवाद में क्यूं बेवजह खींच लिया गया है। मेरे ऊपर जो अपने फ्लैट पर मीटिंग करवाने और डील करवाने के आरोप लग रहे हैं वो किसी फिल्मी कहानी की तरह ही मनगढ़ंत हैं। मैं 2011 में वर्ल्ड कबड्डी कप में परफॉर्म करने के लिए पंजाब आया था और इस दौरान मेरी सुखबीर बादल जी से मुलाकात हुई थी। इसके अलावा उनसे दो-तीन बार और सार्वजनिक कार्यक्रमों में ही मुलाकात हुई है लेकिन मैं पंजाब से बाहर उनसे कहीं नहीं मिला हूं। मैं उन्हें सिर्फ वैसे ही जानता हूं जैसे कि कुछ और देश के बड़े पॉलीटिशियंस को जानता हूं और उनसे भी मेरी सार्वजनिक कार्यक्रमों में मुलाकात होती रहती है। जिस वक्त 2015 में मेरे फ्लैट पर मीटिंग होने की बात की जा रही है उस वक्त मैं अपनी फिल्मों "गब्बर इस बैक" और "बेबी" के काम में काफी उलझा हुआ था और गुरमीत राम रहीम और उसके परिवार से ना तो कभी मैं मिला हूं और ना ही उन्हें जानता हूं वो कुछ दिन तक मेरी जूहु की सोसायटी में रहने के लिए आया हुआ था और इस दौरान उसे लेकर सोसायटी के लोगों में काफी को कोताहुल था। 


मेरी पत्नी ट्विंकल खन्ना ने गुरमीत को लेकर एक ट्वीट भी किया था लेकिन उसकी का भी गलत मतलब निकाल लिया गया। वो ट्विट सिर्फ एक व्यंग्य था जिसमें मेरी बीवी ने लिखा था कि अब इस तरह के लोग हमारी सोसाइटी में रह रहे हैं जिसे लेकर लोगों में काफी अचरज और हैरानी है और पूरा दिन गाड़ियों का काफिला हमारी सोसाइटी में बना रहता है। लेकिन कुछ लोगों ने उस ट्वीट का गलत मतलब निकाल दिया और कहा कि मैं और मेरी बीवी गुरमीत राम रहीम के फॉलोअर्स हैं।

मैं और मेरा पूरा परिवार श्री गुरु ग्रंथ साहिब और सिख धर्म का बहुत सम्मान करता है और मैं इस तरह की किसी साजिश में शामिल होने के बारे में सोच भी नहीं सकता। मेरे ऊपर लगाए गए तमाम आरोप मनगढ़ंत हैं। बता दे कि 3 साल पहले पंजाब के फरीदकोट के बरगाड़ी गांव में सिखों के पवित्र ग्रंथ गुरु ग्रंथ साहिब के अपमान के मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी के सामने अक्षय कुमार गए है।  उनसे पूछताछ के लिए इस मामले में एसआईटी ने हाल ही में समन जारी किया था।  इस मामले में ऐक्टर अक्षय कुमार पर जस्टिस रणजीत सिंह आयोग की रिपोर्ट में संगीन आरोप लगे थे। आरोपों के मुताबिक अक्षय ने 20 सितंबर 2015 को अपने फ्लैट पर तत्कालीन डेप्युटी सीएम सुखबीर सिंह बादल और डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के बीच बैठक करवाई थी। इसी मीटिंग के दौरान ही डेरा प्रमुख की फिल्म को पंजाब में रिलीज करने पर मुहर लगी। 


ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये खास रिपोर्ट...