अखिलेश बोले, अगर गठबंधन महामिलावट, तो किस शुद्धता की खोज में है BJP

                                                                              Photo:Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (9 फरवरी): प्रधानमंत्री मोदी द्वारा गठबंधन को महा मिलावट कहे जाने पर तंज कसा है। अखिलेश ने कहा है कि जो ढाई लोग गठबंधन को महामिलावट कह रहे हैं वो किस शुद्धता की खोज में हैं? आगे उन्होंने कहा कि भारत विभिन्न समुदायों का संगम है। यह गठबंधन, यह संगम, इस विभिन्नता का मिलाप है लोग एक दूसरे के सुर में सुर मिलाएंगे और भारत के लिए एक नया गीत गाएंगे. दलों और विचारधाराओं के संगम से भाजपा क्यों डर रही है?

अखिलेश ने ये ट्वीट पीएम मोदी की संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान किए कटाक्ष के जवाब में किया। पीएम ने कहा था कि एक स्वस्थ्य लोकतंत्र इस तरह के अस्वस्थ्य गठबंधन को अस्वीकार कर देगा। आपको बता दें कि यूपी में लोकसभा चुनावों को देखते हुए सपा और बसपा ने 37, 37 सीटों पर गठबंधन किया है. हालांकि, कांग्रेस को इस गठबंधन दूर रखा गया है। ये पहली बार नहीं जब अखिलेश ने नरेंद्र मोदी, अमित शाह और सीएम आदित्यनाथ को ढाई आदमी कहा हो। 5 फरवरी को ही पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने लोगों के नाम एक खुला खत लिखा था, जिसमें उन्होंने लोगों को अपील की थी कि वो ढाई आदमियों की सरकार को फिर से वोट ना करें।

अखिलेश ने पत्र के आखिर में लिखा था कि, "मुझे लगता है कि समय आ गया है कि जब हम सभी को राजनीति, जात-पात और धर्म को छोड़कर इस बात से सहमत होना चाहिए कि हमें एक सशक्त सरकार की जरूरत है। मैं सबका आह्वान करता हूं कि सीबीआई, आईएएस, आईपीएस अपने ऊपर हो रहे राजनीतिक हमलों का विरोध करें। अखिलेश ने कहा, 'जो लोग मीडिया में काम कर रहे हैं वे बिना डर के अपनी बात रखें. हो सकता है कि आप मुझसे असहमत हों, पर आप अपना वोट उसे ही दें जो आप का प्रतिनिधित्व कर सकें।