सीएम योगी की एक ही भाषा है 'ठोक दो', पुलिस और जनता दोनों कन्फ्यूज: अखिलेश यादव

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (30 दिसंबर):  रविवार को गाजीपुर में हुई कांस्टेबल की मौत पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने लॉ एंड ऑर्डर बर्बाद कर दिया है। गाजीपुर विवाद को प्रशासन चाहता तो रोक सकता था। प्रधानमंत्री का कार्यक्रम था, वहां पर इतनी फोर्स थी, फिर भी ये हादसा हुआ. जहां योगी जी कहते है कि ठोक दो, तो कभी पुलिस को नहीं समझ नहीं आता कि किसको ठोके और कभी जनता को नहीं समझ आ रहा है कि किसे ठोके. दोनों कंफ्यूज हैं। ट्रांसफर से बचने के लिए पुलिस अधिकारी एनकांउटर कर रहे हैं।पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि अगर आंकड़े देखें तो कानून व्यवस्था के मामले दोगुने हुए है। बलात्कार के मामले दोगुने है. बीजेपी ने वादा किया था कि एक साल मे पुलिस के सारे खाली पद भर दिए जाएंगे। दो साल में कोई भर्ती नहीं हुई. किसानों का मसला उठाते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी का वादा था कि सीमांत किसानों का कर्ज माफ होगा, लेकिन किसानों को और कर्ज लेना पड़ रहा है। अभी तक धान नहीं खरीदी गई. आलू नहीं खरीदे गए।आपको बता दें की, रविवार को गाजीपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के बाद लौट रहे पुलिसकर्मी बिना अनुमति धरना और सड़क जाम कर रहे निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं को हटा रहे थे. पुलिस की इस कार्यवाही से भड़के लोगों ने पथराव कर दिया। इस पथराव की चपेट में आने से एक कांस्टेबल की मौत हो गई। पुलिस ने 32 नामजद और कई अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। अभी तक इस मामले में 11 हत्यारोपियों के साथ पुलिस ने 19 लोगों को गिरफ्तार किया है,निषाद पार्टी के जिला सचिव की तलाश की जा रही है।

अखिलेश ने कहा कि कुछ रोज पहले सरकार ने इंनवेस्टमेंट समिट कराया था, जिसमें भाजपा ने अपने मित्रों को बुलाकर बड़ा निवेश दिखाया। उसमें कुछ नही हुआ,  बल्कि चीन का सामान भारत में लाकर लोगों को और बेरोजगार कर दिया गया। भाजपा ने लाखों भर्तियों की बात की थी, लेकिन एक भी भर्ती नहीं की। अगर दोबारा भाजपा सत्ता में आई तो हो सकता है कि भूमि अधिग्रहण के नाम पर किसानों की जमीन बड़े उद्योगपतियों को दे दी जाए। इतनी बड़ी झूठी सरकार भारत में कभी नहीं आई थी।