आगे के चुनाव बैलेट पेपर से होने चाहिए: अखिलेश यादव

लखनऊ (16 मार्च): उत्तर प्रदेश में करारी हार के बाद सपा के विधायकों की पार्टी कार्यालय में हुई बैठक में अखिलेश यादव ने भी ईवीएम मशीन पर सवाल खड़े कर दिए। उन्होंने कहा कि देश में सभी चुनाव बैलेट पेपर से ही होने चाहिए।

मायावती और केजरीवाल के बाद अखिलेश यादव ऐसे तीसरे बड़े नेता हैं, जिन्होंने बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग की। इस मीटिंग में शिवपाल यादव, आजम खान और रामगोविंद चौधरी भी शामिल हुए।

- मीटिंग के बाद राजेंद्र चौधरी ने कहा- अखिलेश ने कहा कि अब पीछे मुड़कर नहीं देखना चाहिए। यह भी मांग उठी की अब आगे के चुनाव बैलेट पेपर से होने चाहिए।

- नेता विधानमंडल दल चुनने के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को अधिकृत किया गया।

- वहीं, विधायक मनोज पांडेय ने बताया कि, मीटिंग में हार के कारणों को लेकर चर्चा हुई है।

- नेता विधानमंडल दल के नेता को चुनने का अधिकार राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को सौंप दिया गया है। 

हार के जिम्मेदार ईवीएम और मीडिया

- सूत्रों के मुताबिक मीटिंग में हार के कारणों पर चर्चा हुई। इस दौरान कई विधायकों ने भी अपनी राय दी।

- मीटिंग में ज्यादातर ने ईवीएम और मीडिया पर हार का ठिकरा फोड़ा। विधायकों का मानना था कि ईवीएम में गड़बड़ी की गई है।

- इसके अलावा मीडिया ने भी बीजेपी के फेवर में माहौल बनाया, जिससे कि बीजेपी के प्रति लोगों का रुझान बढ़ा।