मायावती के गठबंधन से अलग होने पर अखिलेश बोले, 'इंजीनियर हूं, एक प्रयोग किया'

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (5 जून): अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी गठबंधन को लेकर एक बार फिर बयान दिया है। अखिलेश यादव ने कहा है कि जिंदगी में कई बार प्रयोग असफल होते हैं लेकिन उससे कमियों को पता चल जाता है। इतना ही नहीं उन्होंने इशारों-इशारों में मायावती के साथ भविष्य में चुनाव न लड़ने की बात भी कही। अखिलेश ने गठबंधन के सवाल पर कहा कि अब राजनीति का रास्ता खुला हुआ है।

अखिलेश यादव ने कहा कि जब आप कुछ नया करते हैं तो भले ही सफलता न मिले, लेकिन काफी कुछ सीखने को मिलता है। उन्होंने कहा कि एसपी-बीएसपी गठबंधन की घोषणा पर मैंने पहले ही कहा था कि मायावती का सम्मान मेरा सम्मान है। मैं आज भी यही कहता हूं और जहां तक उपचुनाव अकेले लड़ने की बात है अब सभी के लिए रास्ता खुला हुआ है। हम पार्टी नेताओं से चर्चा करेंगे और आगे की योजना तैयार करेंगे।गौरतलब है कि मंगलवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस कर यूपी में होने वाले उपचुनाव अकेले लड़ने की घोषणा कर दी थी।

लखनऊ ईदगाह पहुंचे अखिलेश यादव ने लोगों को ईद की मुबारकबाद दी। अखिलेश ने यहां पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि यह गठबंधन उनके लिए एक प्रयोग की तरह था जो भले ही सफल न रहा हो लेकिन उन्हें कमियां पता चल गईं। उन्होंने कहा, 'मैं साइंस का छात्र रहा हूं। कई ट्रायल होते हैं। कई बार आप कामयाब नहीं होते हैं, लेकिन कम से कम आपको कमी पता चल जाती है।' मायावती ने गठबंधन से ब्रेकअप करते हुए कहा था कि राजनीतिक रास्ते अलग हो गए हैं लेकिन डिंपल और अखिलेश से उनके व्यक्तिगत संबंध बने रहेंगे। इस पर एसपी चीफ ने कहा, 'मैं आपको भरोसा दिला सकता हूं कि आदरणीय मायावतीजी के लिए जो मैंने पहले दिन कहा था पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में कि मेरा सम्मान उनका सम्मान होगा। आज भी मैं वही बात कहता हूं। '