CM अखिलेश के लिए स्टार प्रचारक बना ढाई महीने का नवजात खजांची

कानपुर (17 फरवरी): तकरीबन ढ़ाई महीने नवजात खजांची बोल नहीं सकता लेकिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के लिए स्टार प्रचारक बना हुआ है। वह यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चुनाव प्रचार का एक प्रतीक है। अखिलेश अपनी रैलियों में खजांची का जिक्र करते रहे हैं। खजांची को उसकी मां ने पीएम मोदी द्वारा नोटबंदी की घोषणा किए जाने के बाद बैंक के बाहर कतार में जन्म दिया था।

कानपुर में पिछले दिनों एक रैली में समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा- बैंक कतार में एक बच्चे का जन्म हुआ। बैंक के कर्मचारियों ने उसे खजांची नाम दिया। मैंने उस नाम का सम्मान करते हुए उसे दो लाख रुपये की आर्थिक मदद दी। अखिलेश ने कहा कि नोटबंदी से अमीरों को नहीं, गरीबों को तकलीफ हुई।

खजांची की मां सर्वेशा देवी बैंक की कतार में पांच घंटे तक खड़ी रही, जिसके बाद उसे प्रसव पीड़ा होने लगी। यह बच्चा उनकी पांचवीं संतान है। उसके जन्म से कुछ समय पहले ही सर्वेशा के पति की मौत हो गई थी। वह एक सपेरा था। बैंक कर्मचारियों और अन्य लोगों ने बच्चे का नाम खजांची रखने का सुझाव दिया, जिसे सर्वेशा की मां ने मान लिया। लेकिन अब चुनावों के इस दौर में इस नौनिहाल का राजनीति से वास्ता जोड़ दिया गया है। खजांची के एक महीने के होने से पहले ही चुनावी माहौल में अखिलेश यादव ने उसकी मां को दो लाख रुपये की आर्थिक मदद दी।