यूपी के इन शहरों में किराए पर मिलती है एके-47

गाजियाबाद (15 अगस्त): भाजपा के ब्रजपाल तेवतिया की हत्या की कोशिश के मामले की जांच के दौरान खुलासा हुआ है कि उत्तर प्रदेश में एके-47 राइफलें या इस तरह के हथियार किराए पर मिल जाते हैं। दिल्ली से सटे अपराध के लिए मशहूर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इलाके में स्पष्ट रूप से यह समस्या ज्यादा गंभीर है।

एक अधिकारी ने कहा कि मोटे तौर पर एक अनुमान है कि करीब दर्जन भर गिरोहों के पास एके-47 जैसे हथियार हैं। इन गिरोहों में अनिल दुजाना, सुशील मूंछ, सुंदर भाटी, धर्मेद्र किरथाल, उधम कर्नवाल, योगेश भदोरा और मुकीम काला के गिरोह शामिल हैं। कथित तौर पर उनके पास एक से अधिक राइफलें और स्वचालित हथियार हैं। आवश्यकता पड़ने पर वे और हथियार खरीदते हैं या किराए पर लेते हैं।

- एके-47 राइफल किराये पर लेने के लिए दो-तीन लाख रुपये जमानत के तौर पर जमा करने पड़ते हैं। - अगर राइफल गुम हो जाती है तो जमा राशि जब्त कर ली जाती है। - अगर हथियार लौटा दिए जाते हैं तो किराए के रूप में प्रति हथियार 50,000 से 60,000 रुपये जमा राशि से काट लिए जाते हैं।