News

अजीज और अजीत डोभाल में नहीं हुई बातचीत: भारत

 

नई दिल्ली(5 दिसंबर): हार्ट ऑफ एशिया कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान के साथ बातचीत को लेकर भारत का रुख बेहद सावधानी भरा रहा। एक तस्वीर में जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज हाथ मिलाते नजर आए, वहीं दूसरी में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और सरताज अजीज टहलते दिखे। दोनों देशों के प्रतिनिधियों से जुड़ी सिर्फ यही दोनों तस्वीरें दिखीं।

- पाकिस्तान ने जहां दावा किया है कि अजीज और डोभाल ने चहलकदमी के दौरान बात की, वहीं भारत ने रिश्तों में जमी बर्फ के बीच किसी भी तरह की बातचीत से इनकार किया है। 

- हाल में नगरोटा में सेना के ठिकाने पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव और बढ़ गया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा, 'इस बात को लेकर दिनभर सवाल किए जाते रहे कि क्या एनएसए अजीत डोभाल और सरताज अजीज के बीच बैठक हुई। यहां यह साफ किया जाता है कि दोनों के बीच किसी तरह की द्विपक्षीय बातचीत नहीं हुई।'

- बीते शनिवार को पांच देशों के विदेश मंत्रियों के ग्रुप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात किए जाने के बाद अजीज और डोभाल के संक्षिप्त और अनौपचारिक बातचीत की खबर है। विदेश मंत्रियों की मुलाकात से पहले आयोजित डिनर में हार्ट ऑफ एशिया कॉन्फ्रेंस में शामिल हो रहे तकरीबन सभी देशों के प्रतिनिधि शामिल हुए। भारत सरकार के सूत्रों ने बताया कि अजीज और डोभाल डिनर की जगह से तकरीबन 100 फुट की दूरी तक साथ-साथ चले। डिनर की जगह 'साडा पिंड' थी, जो अमृतसर के पास एक गांव है।

- पाकिस्तान अधिकारियों का कहना है कि दोनों के बीच बातचीत हुई। हालांकि, अब यह बात बिल्कुल गोपनीय नहीं रह गई है कि अजीज जब भारत आ रहे थे, तो पाकिस्तान ने दोनों देशों के बीच बैठक को लेकर काफी जोर डाला था। हालांकि, पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद की बात भारत और अफगानिस्तान दोनों के दिमाग में थी और दोनों देशों ने अजीज के साथ बेहद सतर्कता बरतते हुए बात की। अजीज ने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ घनी से भी मुलाकात की।

-हार्ट ऑफ एशिया कॉन्फ्रेंस के मेजबान देश भारत ने पाकिस्तान में मौजूद आतंकी इंफ्रास्ट्रक्चर पर हमला किया, लेकिन पाकिस्तान का सीधे तौर पर नाम नहीं लिया। हालांकि, असली हमला अफगानी राष्ट्रपति अशरफ घनी की तरफ से दिखा, जहां अजीज भी मौजूद थे। घनी ने रविवार को कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद का एक्सपोर्ट कर रहा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने अफगानिस्तान को फिर से तैयार करने के लिए 50 करोड़ डॉलर देने का जो वादा किया है, उसका बेहतर इस्तेमाल आतंकवाद के खिलाफ मुकाबले में हो सकेगा।

-घनी ने अमृतसर में आयोजित हार्ट ऑफ एशिया के छठे सम्मेलन में कहा, 'सीमा पार से आतंकवाद बड़ी चिंता है और हमें आतंकवाद से लड़ाई में मदद चाहिए। पाकिस्तान ने अफगानिस्तान को फिर से तैयार करने के लिए 50 करोड़ डॉलर देने का वादा किया है। अजीज साहब, इस फंड का इस्तेमाल आतंकवाद पर लगाम कसने में किया जा सकता है, क्योंकि शांति के बिना किसी भी तरह की सहायता लोगों की जरूरत नहीं पूरी करेगी।' 


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top