धोनी का मुरीद हुआ यह विदेशी खिलाड़ी, अगरकर ने भी किया बचाव

नई दिल्ली (12 मई): द. अफ़्रीका के टी-20 कप्तान डू प्लेसी के मुताबिक वो ख़ुशक़िस्मत है कि उन्हें धोनी की कप्तानी के अंदर खेलने का मौक़ा मिला, जिसकी वजह से खुद मेरी कप्तानी भी बेहतर हुई है। प्लेसी पहली बार साल 2011 में चेन्नई सुपरकिंग्स में शामिल हुए थे और फिर उसके बाद लगातार 2015 तक धोनी की टीम का हिस्सा रहे थे। इस साल चेन्नई सुपरकिंग्स के निलंबन के बाद वह पुणे के टीम में ही थे लेकिन चोट की वजह से उन्हें टूर्नामेंट बीच में ही छोड़ना पड़ा था।

अगरकर ने किया धोनी का बचाव पूर्व तेज गेंदबाज अजीत अगरकर ने धोनी का बचाव करते हुए कहा है कि अश्विन पर धोनी का भरोसा बरकरार है और उनकी अहमियत धोनी के लिए कम नहीं हुई है। अगरकर ने कहा, ‘‘कभी कभार ऐसा भले ही अजीब लगता हो लेकिन मुझे नहीं लगता कि ऐसा भरोसे की कमी के कारण हुआ है। जब पुणे की टीम मुंबई (पिछले महीने वानखेड़े स्टेडियम में मुंबई इंडियंस से भिड़ने) आई तो यह तेज गेंदबाजों के मुफीद विकेट था और अश्विन की गेंदबाजी की जरूरत नहीं थी।’’