VIDEO: दुनिया का सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट 'Airlander 10' दूसरे टेस्ट फ्लाइट के दौरान क्रैश

नई दिल्ली (24 अगस्त): दुनिया का सबसे बड़ा विमान 'एयरलैंडर 10' बुधवार को दूसरे टेस्ट फ्लाइट के दौरान क्रैश हो गया। 302 फीट लंबा एयरलैंडर 10 आंशिक रूप से विमान है तो कुछ हेलिकॉप्टर और एयरशिप का मिश्रण है। एयरलैंडर ने आज अपनी दूसरी उड़ान पर था। उड़ान भरने के कुछ मिनटों बाद ही एयरलैंडर जमीन से टकरा गया। टकराने से विमान के आगे के हिस्से को नुकसान पहुंचा है। दुर्घटना बेडफोर्डशायर में कार्डिंगटन एयरफील्ड में घटी। एयरपोर्ट के सुरक्षा विभाग के अनुसार दुर्घटना में कोई हताहत नहीं हुआ, प्यालट और दल सभी सुरक्षित हैं।

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=Mg-RPTiVa_Q[/embed]

क्या है 'एयरलैंडर 10' की खासियत - एयरक्राफ्ट का वजनः 544,311 किलोग्राम - पंखों की लंबाईः 385 फीट (117 मीटर) - इंजनः छह 747 क्लास इंजन - क्षमताः 6124 किग्रा. की सैटेलाइट को धरती से 2000 किमी तक ले जाने की। - इसकी खासियत है कि ये पहाडों पर, मैदानों में, बर्फ पर या पानी में कहीं भी लैण्ड कर सकता है। - इस एयरक्राफ्ट से ध्वनि या वायु प्रदूषण बिल्कुल भी नहीं होता है।

एयरक्राफ्ट की बनावट - एयरक्राफ्ट के निचले हिस्से में होवरक्राफ्ट की तरह के दो यान लगे हैं। - जिसके जरिए एयरक्राफ्ट को पानी में ही सुरक्षित उतारा जा सकता है। - इस एयरक्राफ्ट में 50 यात्रियों के बैठने की भी क्षमता है। - इसे बनाने वाली कंपनी का दावा है कि यह करीब 50 टन माल की ढुलाई भी कर सकता है। - इसे लंदन की पहचान क्लॉक टावर से ऊंचा बना गया है।

कैसे आया एयरलैंडर बनाने का आइडिया - इस एयरक्राफ्ट को बनाने का आइडिया 2009 में अमेरिका की सेना को आया था। - अमेरिका अपनी सेना के लिए अफगानिस्तान सामान पहुंचाने के लिए इसका इस्तेमाल करना चाहता था। - रक्षा बजट कम होने की वजह से 2012 में प्रोजेक्ट को बीच में ही रोक दिया गया। - बाद में ब्रिटिश कंपनी एयरलैंडर ने इस आइडिए को कैश करा लिया। - इस तरह ये एयरक्राफ्ट दुनिया के सबसे बड़े एयरक्राफ्ट के रूप में अब सबके सामने है। - एयर लैण्डर-10 का निर्माण ब्रिटश कंपनी हाइब्रीड एयर व्हीकल्स ने किया है। - कंपनी का लक्ष्य 2018 तक 12 एयर क्राफ्ट बनाने का है।