'आधार से बुक होंगे हवाई टिकट, यात्री की उंगली ही बनेगी बोर्डिंग पास'

नई दिल्ली ( 6 मार्च ) क्रेंद सरकार हवाई जहाज के यात्रियों के लिए आधार बेस्ड बुकिंग एंड बोर्डिंग सिस्टम लाने का विचार कर रही है। इस सिस्टम से यात्रियों की उंगली ही उसका टिकट और बोर्डिंग पास बन जाएगी।


यह बात सिविल एविएशन मिनिस्टर पी. अशोक गजपति राजू ने कही। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मंत्री गजपति राजू ने बुधवार को रेल भवन में एक प्रोग्राम से इतर मीडिया से बातचीत में कहा, "आधार कार्ड से टिकट बुकिंग का पायलट फेज कामयाब रहा है। अब एविएशन इंडस्ट्री से जुड़े पक्ष इस बारे में गंभीरता से विचार कर रहे हैं।"


मंत्री ने बताया, "आधार से जुड़ा बॉयोमीट्रिक डाटा ही पैसेंजर की पहचान का जरिया बनेगा। इसका मतलब है कि पैसेंजर को उसकी उंगली के निशान से पहचाना जाएगा और उसी आधार पर उसे प्लेन में सवार होने दिया जाएगा।"


गजपति राजू के मुताबिक, इस सिस्टम से कागज का इस्तेमाल घटेगा और तमाम प्रॉसेस आसान हो जाएगी। इसी तरह, रेलवे के टिकट भी आधार के जरिए बुक करने को जरूरी करने की एक स्कीम पर भी विचार किया जा रहा है। सरकार आधार कार्ड को अनेक सर्विसेस से जोड़ कर सिविल सर्विसेस को आसान बनाने की कोशिश कर रही है।


आयकर विभाग की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, सिर्फ भारत में रहने वालों को ही इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए उसमें आधार कोट करना होगा। डिपार्टमेंट ने 2017-18 के असेसमेंट के लिए आधार को मैंडेटरी (अनिवार्य/जरूरी) कर दिया है।


बता दें कि सरकार ने फाइनेंस एक्ट 2017 के तहत टैक्सपेयर्स के लिए आधार कोट करना या ITR फाइल करते वक्त एनरोलमेंट ID देना जरूरी कर दिया है।