नशे में थी एयर इंडिया की पायलट, लगा तीन महीने का बैन

नई दिल्ली(3 फरवरी): एयर इंडिया की एक महिला पायलट तीन महीने तक विमान नहीं उड़ा पाएगी। पायलट पिछले हफ्ते फ्लाइट से पहले ब्रेथ ऐनालाइजर टेस्ट में फेल हो गई थी।

- यह पायलट दिल्ली से गुजरात जाने वाली एयर बस ए-320 फ्लाइट को उड़ाने वाली थी जब उसके ब्रेथ टेस्ट से पता चला कि वह नशे में है।

- एक अधिकारी ने बताया, 'नियमों के मुताबिक कुछ मिनटों की देरी पर महिला का दो बार ब्रेथ टेस्ट किया गया जिसमें दोनों ही बार यह पायलट फेल रही।

- हमारे प्रसीजर के मुताबिक, तत्काल प्रभाव से पायलट पर तीन महीने विमान उड़ाने पर रोक लगा दी गई है।' हालांकि, इस मुद्दे पर एयर इंडिया के पायलट भी विरोध करते हुए महिला पायलट के समर्थन में आ गए हैं। इनका कहना है कि बीए टेस्ट में कई बार नशा नहीं करने वाले पायलट का रिजल्ट भी पॉजिटिव आ जाता है।

-  एयर इंडिया के प्रसीजर के मुताबिक, अल्कोहल टेस्ट के लिए हर पायलट को अपने विमान में उड़ान भरने से पहले मशीन में फूंक मारनी होती है। अगर मशीन में कुछ भी रीडिंग आती है तो 20 मिनट के बाद फिर से एक बार टेस्ट किया जाता है और अगर इस बार भी रीडिंग आती है तो माना जाता है कि पायलट नशे में है।