मनपसंद महिला को-पायलट को ले जाना जाता था पायलट, लेट हुई फ्लाइट

नई दिल्ली(7 अप्रैल): एयर इंडिया के एक पायलट की जिद के कारण विमान 2 घंटे तक चेन्नई एयरपोर्ट पर रुकी रही। पायलट ने इसलिए प्लेन को रोककर रखा, क्योंकि उसने एयरलाइन से अपनी पसंद की महिला को-पायलट की मांग की थी। पहले तो अथॉरिटी ने उसकी मांग पूरी करने से मना कर दिया, पर बाद में फ्लाइट लेट होते देखकर पसंद की को-पायलट भेजने की शर्त मंजूर कर ली।

पायलट ने इस दौरान हाई ब्लड प्रेशर की भी शिकायत की जिस पर उसका इलाज करवाया गया। चेन्नई से तिरुवनंतपुरम के रास्ते मालदीव की राजधानी माले जा रहे एयर इंडिया के विमान में यह वाक्या हुआ। विमान में 110 यात्री सवार थे। बताया गया है कि पायलट गत सप्ताह ही एयर इंडिया छोड़ चुका है तथा छह महीने के नोटिस पीरियड पर है।

बताया गया है कि पायलट ने मंगलवार को अपने अधिकारियों के सामने मांग रखी थी कि बुधवार के लिए फ्लाइट नंबर एआई 263-264 में उसके साथ उसकी मनपसंद महिला अधिकारी को तैनात किया जाए। हालांकि रोस्टर विभाग ने उसकी मांग मानने में असमर्थता जताते हुए कहा था कि महिला अधिकारी का पहले ही दिल्ली की फ्लाइट में जाना निर्धारित किया गया है।

रोस्टर विभाग के जवाब के बाद पायलट ने विभाग को फोन पर धमकी दी कि अगर उसकी मनपसंद महिला पायलट को साथ नहीं भेजा गया तो वह बीमार होने की रिपोर्ट करेगा। गुरुवार की सुबह भी पायलट ने फिर से उसी महिला सह-पायलट को बुलाने पर जोर दिया जिसके बाद एयरलाइन को उसकी बात माननी पड़ी। परन्तु इस पूरे घटनाक्रम के चलते उड़ान में देरी हो गई जिसके चलते फ्लाइट सुबह सात बजे के निर्धारित समय के बजाय सुबह 9:13 पर रवाना हो सकी।