AIR INDIA कनिष्का विस्फोट का अभियुक्त रिहा

नई दिल्ली (28 जनवरी): एयर इंडिया के कनिष्क विमान को हवा में ही उडा़ देने के एक मात्र दोषी इंद्रजीत सिंह रेयात को कनाडा की जेल से रिहा कर दिया गया है। पैरोल बोर्ड ऑफ कनाडा के प्रवक्ता ने भी रेयात की रिहाई की पुष्टि की है। एयर इंडिया की फ्लाइट संख्या 182 'कनिष्का' 1985 कनाडा से बाया लंदन भारत पहुंचनी थी। 

आयरलैण्ड कोस्ट के ऊपर  इसमें विस्फोट हो गया था। विस्फोट से विमान में सवार सभी 329 लोग मारे गए थे। साल 2003 में रिपुदमन सिंह मलिक और अजायब सिंह बागरी की सुनवाई के दौरान अदालत के सामने झूठ बोलने के लिए रेयात को 2010 में झूठी गवाही देने का दोषी करार दिया था।

पंजाब से कनाडा आए पेशे से मैकेनिक रेयात ने डायनामाइट, डेटोनेटर्स और बैटरियां खरीदी थीं। इन्हीं की मदद से किए गए विस्फोटों में एयर इंडिया की उड़ान संख्‍या 182 के 329 यात्रियों की जान चली गई थी।