वायुसेना के लिए राफेल जरूरी, सुप्रीम कोर्ट का फैसला अच्छा- बी एस धनोआ


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 दिसंबर): वायुसेना प्रमुख  बी एस धनोआ ने राफेल सौदे को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। वायुसेनाध्यक्ष धनोआ ने जोधपुर में कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दे का राजनीतिकरण करना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि राफेल सहित सेना के किसी भी हथियार का राजनीतिकरण होता है तो उससे उसकी खरीद पर असर पड़ता है। टैक्सपेयर्स के पैसे से सब खरीदा जाता है ऐसे में सबके पास सवाल पूछने का अधिकार है, इससे जुड़ी जानकारी लेने का भी अधिकार है। लेकिन हर चीज पर नुक्ताचीनी करना ठीक नहीं है। इसका दुश्मन फायदा उठा सकता है।



वायुसेना प्रमुख ने कहा कि इसके असली नाम बताने से भी दुश्मन को संकेत मिल सकता है कि उस लड़ाकू विमान में क्या-क्या तकनीक लगी हुई है। अगर हर डिटेल पूछेंगे विमान से जुड़ा तो दुश्मन को पता चल जायेगा कि कौन से हथियार और मिसाइल लगे हैं। साथ ही वायुसेना प्रमुख ने कहा कि राफेल की खरीद हमारे लिए जरूर है। यह हमारे लिए गेम चेंजर और दुश्मन पर हावी होने के लिए बहुत जरूरी है। साथ ही उन्होंने कहा कि अगले साल सितंबर से रफेल की डिलीवरी शुरू हो जाएगी।



साथ ही वायुसेनाध्यक्ष ने कहा कि संचार सेवा के उपग्रह जीएसएलवी-7 ए के प्रक्षेपण से वायुसेना की नेटवर्किंग क्षमता मजबूत होगी।‘यह हमारी नेटवर्किंग क्षमताओं में जबरदस्त उछाल है. यह हमारे संचार (क्षमताओं) के लिए बहुत फायदेमंद है।’ उन्होंने कहा कि हमारे पास संचार क्षमताओं के कई तरह के प्लेटफार्मस उपलब्ध हैं। उपग्रह के जरिए संचार सुगम बनाने के लिये प्लेटफार्म बनाया गया है। इस संचार तकनीक के जरिए विमानों की संचार क्षमताओं में वृद्धि संभव हो सकेगी। आपको बता दें कि आज इसरो श्रीहरिकोटा से जीएसएलवी—7ए को लॉन्च करने जा रहा है।