अब ओवैसी ने उठाया मुसलमानों के पलायन का मुद्दा

हैदराबाद (18 जून): कैराना में हिंदुओं के पलायन की खबर पर उठा विवाद शांत भी नहीं हुआ था कि एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने एक नया संप्रादायिक मुद्दा उठा दिया है। ओवैसी ने दावा किया है कि साल 2013 के मुजफ्फरनगर दंगों के बाद 50,000 मुसलमानों ने अपना घर छोड़ा है।

ओवैसी ने कैराना से पलायन करने वाले 346 परिवारों की सूची को ‘फर्जी’ बताया है। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर नाटक करना भाजपा और सपा दोनों के हितों के अनुकूल बैठता है। मुजफ्फरनगर दंगों के बाद 50,000 से अधिक लोगों ने अपना मूल स्थान छोड़ दिया, जहां वे पीढ़ियों से रहते आ रहे थे। उन्होंने इसे देश की आजादी के बाद अल्पसंख्यकों को सामूहिक रूप से हटाने का कार्य बताया।

एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा कि क्या भाजपा एक तथ्यान्वेषी टीम भेजेगी? मुजफ्फरनगर दंगों के बाद विस्थापित हुए 50,000 लोगों के साथ क्या हुआ, उसका पता लगाने के लिए क्या भाजपा कोई समय निकालेगी? मूल रूप से भाजपा के पास कोई और मुद्दा नहीं है। कैराना मुद्दा भाजपा का असली चेहरा उजागर करता है जो सबका साथ सबका विकास की बात करती है।

उन्होंने कहा कि भाजपा बहुसंख्यक समुदाय के बीच डर की भावना पैदा करना चाहती है। सपा मुसलमानों को यह संदेश देना चाहती है कि यदि आप सपा को नहीं चुनते हैं तो आप असुरक्षित हैं। इस तरह यह नाटक भाजपा और सपा, दोनों के अनुकूल बैठता है।