हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल, एक मुसलमान ने कराई 500 साल पुराने हनुमान मंदिर की मरम्मत

अहमदाबाद (5 फरवरी): देश में जहां कुछ लोग सियासी फायदे के लिए मजहब की दिवार खड़ी करने में जुटे हैं। वहीं देश में अभी कई ऐसे लोग हैं जिन्हें मजहबी दिवार न तो पसंद है और ना ही वो इसमें विश्वास रखते हैं। एकबार फिर इसका मिशाल देखने को मिला है। गुजरात के अहमदाबाद में मोइन मेमन नाम के एक मुसलमान ने 500 साल पुराने हनुमान मंदिर की मरम्मत करा कर हिंदू-मुस्लिम एकता और सांप्रदायिक सौहार्द की अनोखी मिसाल पेश की।

मोइन मेमन का कहना है कि राजनीति वाले तो जब तक हिंदू-मुस्लिम नहीं करेंगे तब तक उनकी रोटी नहीं पकेगी। अगर सब हिंदू-मुस्लिम भाई एकजुट हो गए तो राजनीति वाले कुछ नहीं कर सकेंगे। देश में सुकून-शांति रहेगी।

Rajniti waale to jab tak Hindu-Muslim nahi karwayenge tab tak unki roti nahi sikengi. Agar sab Hindu-Muslim bhai ekjut ho gaye, to rajniti waale kuch nahi kar sakenge. Sukoon shanti desh mein rahegi: Moin Memon #Ahmedabad pic.twitter.com/i28RM7PDK7

— ANI (@ANI) February 5, 2018

अहमदाबाद के निवासी मोइन मेमन ने गुजरात के मिर्जापुर स्थित हनुमान मंदिर की सुध ली और उसकी मरम्मत कराई। हनुमान जी की यह प्राचीन मंदिर रख-रखाव के अभाव में टूटती जा रही थी। स्थानीय लोग इस मंदिर की मरम्मत कराए जाने की मांग लंबे समय से कर रहे थे। 

Moin Memon, an Ahmedabad resident, has undertaken renovation of a 500-year-old Hanuman temple in Mirzapur #Gujarat pic.twitter.com/8dT7zsBENf

— ANI (@ANI) February 5, 2018